न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कोई बंगाली पीएम बन सकता है तो वे ममता बनर्जी हैं : बंगाल भाजपा   

पांच जनवरी 1955 को कोलकाता में जन्मी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी शनिवार को 64 साल की हो गयीं. ममता बनर्जी को सबसे अच्छी बधाई  पश्चिम बंगाल भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष से मिली.

12

Kolkata : पांच जनवरी 1955 को कोलकाता में जन्मी पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी शनिवार को 64 साल की हो गयीं. ममता बनर्जी को सबसे अच्छी बधाई  पश्चिम बंगाल भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष से मिली.  बता दें कि ममता बनर्जी को जन्मदिन की शुभकामनाएं देते हुए दिलीप घोष ने कहा कि उन्हें फिट रहने की जरूरत है क्योंकि इस वक्त अगर कोई बंगाली है जिसके पीएम बनने के सबसे ज्यादा चांस हैं तो वे हैं ममता बनर्जी.  कहा कि मैं सीएम को जन्मदिन की शुभकामना देना चाहूंगा, मैं उनके स्वास्थ्य और उनकी कामयाबी की प्रार्थना करता हूं क्योंकि हमारे राज्य की कामयाबी उनकी कामयाबी पर निर्भर है. हमलोग चाहते हैं कि वे स्वस्थ्य रहें ताकि ठीक से काम कर सकें. उन्हें तंदुरुस्त रहने की जरूरत है क्योंकि इस राज्य से अगर ऐसा कोई बंगाली है जिसके पीएम बनने के चांस हैं तो वो ममता बनर्जी हैं, इसलिए उन्हें तंदुरुस्त रहना चाहिए. लेकिन सच्चाई है कि नरेन्द्र मोदी एक बार फिर 2019 में पीएम बनेंगे. जब घोष को लगा कि उनके इस बयान से विवाद खड़ा हो सकता है तो उन्होंने कहा कि जन्मदिन के मौके पर वो ममता बनर्जी के बारे में खराब चीज़ें नहीं कहना चाहते हैं.  दिलीप घोष से जब पूछा गया कि क्या भाजपा से किसी बंगाली के पीएम बनने के चांस नहीं हैं?

ज्योति बसु पीएम बनने के करीब पहुंच गये थे

silk

इस  पर दिलीप घोष का कहना था कि इस वक्त इस रेस में ममता सबसे आगे हैं. दिलीष घोष ने कहा, निश्चित रूप से उनके बाद कोई दूसरा बंगाली बन सकता है, लेकिन उनके पास पहला मौका है.  वर्तमान सूची में उनका नाम पहले स्थान पर है. इस क्रम में दिलीप घोष ने सीपीएम के दिग्गज नेता ज्योति बसु का जिक्र करते हुए कहा कि वे पीएम बनने के करीब पहुंच गये थे, लेकिन उनकी पार्टी ने ऐसा नहीं होने दिया. ज्योति बसु पर हम बाजी हार गये क्योंकि उनकी पार्टी ने ऐसा नहीं होने दिया. कहा कि आदरणीय प्रणब बाबू राष्ट्रपति बन चुके हैं, इसलिए अब एक बंगाली को पीएम होना चाहिए.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: