Jamshedpur

जिले में हैं 3500 टीबी के मरीज, सीएस ने की बैठक

Jamshedpur : टीबी की रोकथाम करने और उसका समय पर उपचार करने को लेकर जिले के सिविल सर्जन डॉ एके लाल ने एक बैठक की. बैठक में संबंधित डॉक्टरों और विभाग के अधिकारियों को आवश्यक दिशा-निर्देश दिया. सीएस ने कहा कि जिले में कुल 3500 टीबी के मरीज हैं. इसकी रोकथाम के लिए 9 जनवरी तक सभी वेलनेस सेंटर पर ब्लड प्रेशर, शुगर, ओरल कैंसर, सर्वाइकल कैंसर और ब्रेस्ट कैंसर की जांच की जाएगी. सिविल सर्जन अमृत महोत्सव को लेकर बैठक कर रहे थे. इसके लिए व्यापक जागरूकता अभियान चलाया जायगा.

Sanjeevani

छह माह से डेढ़ साल तक इलाज

MDLM

टीबी का इलाज छह माह से लेकर डेढ़ साल तक होता है. इसके बाद ही इसका कोर्स पूरा होगा और प्रभाव भी दिखने लगेगा. सरकार की ओर से रोगी का मुफ्त इलाज कराने की सुविधा दी गयी है. टीबी मरीजों को इसके लिए प्रति माह 500 रुपए और मुफ्त में दवाइयां भी दी जायेगी.

इसे भी पढ़ें- पटना के एक बड़े होटल के पांच कर्मचारी निकले कोरोना पॉजिटिव

Related Articles

Back to top button