न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

…तो भाजपा ने तय कर लिया, योगी आदित्यनाथ ब्रैंड हिंदुत्व का राष्ट्रीय चेहरा!  

भाजपा ने तय कर लिया है कि अब यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ब्रैंड हिंदुत्व का राष्ट्रीय चेहरा होंगे. योगी जी इसी नक्शे कदम पर चल रहे हैं. सूत्रों के अनुसार भाजपा आगामी लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी को विकास और योगी को हिंदुत्व का चेहरा बना कर पूरे देश में पेश करेगी.

52

NewDelhi : भाजपा ने तय कर लिया है कि अब यूपी के सीएम योगी आदित्यनाथ ब्रैंड हिंदुत्व का राष्ट्रीय चेहरा होंगे. योगी जी इसी नक्शे कदम पर चल रहे हैं. सूत्रों के अनुसार भाजपा आगामी लोकसभा चुनाव में पीएम मोदी को विकास और योगी को हिंदुत्व का चेहरा बना कर पूरे देश में पेश करेगी. बता दें कि वर्तमान में योगी को राज्यों के चुनाव में हिंदुत्व के चेहरे के तौर पर ही इस्तेमाल किया जा रहा है.  योगी की चुनाव प्रचार के लिए लगातार डिमांड भी बढ़ रही है.  बता दें कि राजस्थान में उनकी सभाओं की संख्या बढ़ा दी गयी है. योगी ने यूपी का सीएम बनने के बाद से देश के सामने अपने कामकाज से हिंदुत्व के अगुआ के तौर पर पेश किया है.  फैजाबाद का नाम बदलकर अयोध्या करने का मामला हो या इलाहाबाद को प्रयागराज की पहचान दिलाने की पहल, योगी अपने काम से हिंदुत्व की सांस्कृतिक विरासत को लौटाने में जुटे हुए हैं.  योगी ने अयोध्या में दीपोत्सव, बृज में होली और काशी में देवदीपावली को मनाकर हिंदू संस्कृति को आगे बढ़ाने का काम किया.  साथ ही नवरात्र में देवी स्थलों पर 24 घंटे बिजली देकर उन्होंने संदेश दिया कि हमारे लिए देवी-देवताओं के स्थल प्राथमिकता में हैं.

 योगी के भाषणों में कट्टर हिंदुत्व की छाप दिख रही है

योगी के भाषणों में कट्टर हिंदुत्व की छाप दिख रही है.  उनका इस्तेमाल भी भाजपा उन इलाकों में कर रही है, जहां बहुतायत में मुस्लिम रहते हैं.  राजस्थान और मध्य प्रदेश के ऐसे इलाकों में ही जाकर योगी ने साफ कहा- ‘आपके लिए अली मुबारक, पर हमारे लिए तो बजरंगबली ही काफी हैं.  मध्य प्रदेश में उन्होंने ही राम मंदिर निर्माण की बात की.  यह भी कहा कि इसमें कैसे कांग्रेस बाधा बन रही है.  वह तेलंगाना पहुंचे तो उन्होंने अली को लेकर सवाल खड़े करने वाले एआईएमआईएम के मुखिया असदुद्दीन ओवैसी पर ही हमला बोल दिया, कहा- अगर बीजेपी सत्ता में आयी तो ओवैसी निजाम की तरह यहां से भागेंगे. माना जा रहा है कि योगी को चुनाव प्रचार में हिंदुत्व के कट्टर चेहरे के तौर पर पेश करने के पीछे आरएसएस ही है.  दरअसल भगवावेश धारी गोरक्षपीठ के महंत योगी को चुनाव प्रचार में भाजपा के लिए इस्तेमाल करने के पीछे यही रणनीति थी.  वह यूपी में हिंदुओं के लिए कराये कार्यों का तो बखान करते ही हैं, साथ ही कुछ ऐसा बोल देते हैं जिससे मुस्लिम नेताओं को परेशानी हो.

silk_park

इसे भी पढ़ें : राहुल गांधी के मंदिर-मंदिर दर्शन का राज खोला शशि थरूर ने

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: