JharkhandLead NewsRanchi

चार वर्षों से बंद पड़े तमाड़-रायडीह फ्लाईओवर का काम एकबार फिर से होगा शुरू

Ranchi : चार वर्षो से बंद पड़े तमाड़-रायडीह फ्लाईओवर का काम एकबार फिर से शुरू होने वाला है. शनिवार को NHAI की दो सदस्यीय केंद्रीय टीम ने तमाड़-रायडीह में वर्षों से बंद पड़े फ्लाई ओवर निर्माणकार्य का निरीक्षण किया. इस दौरान टीम में शामिल एनएचएआई के संवेदक भारत वाणिज्य कंस्ट्रक्शन कम्पनी के प्रोजेक्ट मैनेजर सुकांतो घोष और वरीय अभियंता विश्वजीत कुमार आदि अधिकारियों ने फ्लाईओवर का निर्माण कार्य के बंद होने के कारणों को पता किया.

इसे भी पढ़ें : 62 साल पुराने सिमडेगा कॉलेज की बदलेगी सूरत

टीम के सदस्य सम्बन्धित विस्थापितों से मिले और उनकी समस्याओं के बारे में विस्तार से जाना. टीम के सदस्यों ने रैयतों को भरोसा दिलाया कि तय समय पर उनके मुआवजे का भुगतान कर दिया जाएगा. प्रोजेक्ट मैनेजर घोष ने बताया कि फ्लाईओवर निर्माण में जिन रैयतों की जमीन ली जायेगी. उन जमीनों कि मापी फिर से करायी जाएगी.

जमीन की मापी का कार्य जल्द शुरू होगा: सीओ

उन्होंने बताया कि अधिग्रहण के दायरे में आने वाले जमीन के एवज में जिन रैयतों मुआवजे का भुगतान नहीं हुआ है वैसे लोगों की पहचान कर हर हाल में मुआवजे का भुगतान कर दिया जाएगा. इसकी मापी के लिए तमाड़ सीओ को जानकारी दे दी गई है. सीओ ने बताया कि अमीन द्वारा जल्द ही जमीन की मापी का कार्य शुरू करा दिया जाएगा.

मुआवजा नहीं मिलने के कारण ग्रामीणों ने बंद करा दिया था काम

रैयतों को मुआवजा नहीं मिलने के कारण ग्रामीणों ने फ्लाईओवर निर्माणकार्य को बंद करा दिया था. ग्रामीणों का कहना था की एजेंसी मनमाने ढंग से काम करना चाहता है.

इसे भी पढ़ें : मंत्रियों का बंगला बनाने को लेकर जुडको ने फिर से निकाला टेंडर

Advt

Related Articles

Back to top button