न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

जिस वीआईपी रोड से गुजरते हैं सीएम, मंत्री, अधिकारी, वहीं गंदगी उड़ा रही स्वच्छ भारत मिशन का मखौल

नगर विकास मंत्री ने पल्ला झाड़ते हुए कहा- नगर आयुक्त से बात करें, नगर आयुक्त से नहीं हो सका संपर्क

64

Ranchi : पीएम के ‘स्वच्छ भारत मिशन’ की राजधानी के वीआईपी रोड कहे जानेवाले हरमू रोड में धज्जियां उड़ रही हैं. यहां तक कि मुख्यमंत्री, स्थानीय विधायक और नगर विकास मंत्री को ऐसी स्थिति को देखकर भी इसकी तनिक भी चिंता नहीं है. दरअसल, इस मार्ग में गोशाला के पास रांची नगर निगम द्वारा बनाये गये मॉड्यूलर टॉयलेट के बाहर बने मिनी एचवाईडीटी के कारण कई दिनों से गंदगी फैली हुई है. सबसे बड़ी बात यह है कि इस वीआईपी मार्ग से प्रतिदिन भाजपा के ही मुख्यमंत्री, मंत्रीगण, सभी विभाग के सचिव आते-जाते रहते हैं. इसके बावजूद यहां फैली गंदगी को लेकर उपरोक्त कोई भी लोग सजग नहीं दिखते हैं.

इसे भी पढ़ें- किसकी वजह से हाइकोर्ट भवन निर्माण में हुई अनियमितता, कमेटी करेगी जांच, विभाग ने सीएम से मांगा…

कोई नहीं ले रहा सुध

आस-पास से गुजरनेवाले लोगों से जब बात की गयी, तो उन्होंने कहा कि यहां फैली गंदी के कारण रोजाना गुजरते लोगों को परेशानी झेलनी पड़ती है. ऐसे वीआईपी मार्ग पर बने मिनी एचवाईडीटी का पानी के जमाव से जिस तरह गंदगी फैल रही है, उससे जब मुख्यमंत्री और मंत्री को किसी तरह की कोई चिंता नहीं है, न ही वे इस ओर किसी तरह का कोई ध्यान दे रहे हैं, तो ऐसे में कैसे माना जाये कि भाजपा से जुड़े ये लोग प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के स्वच्छ भारत मिशन को पूरा करने में कोई दिलचस्पी दिखा रहे हैं.

इसे भी पढ़ें- मुआवजे के 20 करोड़ पर भू-अर्जन अधिकारी की नजर ! रातों-रात एसबीआई से एक्सिस बैंक में रकम ट्रांसफर

स्वच्छता ही सेवा अभियान को जन आंदोलन बनानेवाले थे मुख्यमंत्री, अब खुद ही कर रहे नजरअंदाज

ऐसा नहीं है कि राज्य के मुखिया और नगर विकास मंत्री व स्थानीय विधायक लोगों से सफाई बरतने को लेकर अपील नहीं करते हैं. अभी कुछ दिनों पहले दुर्गा पूजा के समय मुख्यमंत्री ने शहर की कई पूजा समितियों के लोगों से मुलाकात के दौरान यह अपील की थी कि पूजा पंडाल तथा उसके आस-पास साफ-सफाई पर विशेष ध्यान दें. इसी तरह सितंबर में शुरू प्रधानमंत्री के स्वच्छता ही सेवा अभियान को लेकर उन्होंने इसी वीआईपी मार्ग स्थित अरगोड़ा चौक से कटहल मोड़ जानेवाले रास्ते में श्रमदान कर रोड की सफाई की थी. साथ ही, कहा था कि अभियान राष्ट्रपिता महात्मा गांधी की जयंती दो अक्टूबर तक ही सीमित नहीं रहेगा. इसे जन आंदोलन बनाया जायेगा. लेकिन, इसके उलट आज इसी मार्ग पर मुख्यमंत्री की बातें सिर्फ बातें ही साबित होती दिख रही हैं.

इसे भी पढ़ें- कोडरमा नगर पंचायत फ्री वाई-फाई हुआ भी नहीं, सीएम के हाथों करा दिया उद्घाटन

मंत्री सीपी सिंह नहीं देना चाहते बयान, कहा- नगर आयुक्त से बात करो

इस मामले पर जब नगर विकास मंत्री सीपी सिंह से फोन पर संपर्क किया गया, तो संबंधित विभाग के मंत्री और स्थानीय विधायक होने के बावजूद उन्होंने इस पर बयान देने की बजाय न्यूज विंग संवाददाता को कहा कि आप नगर निगम या नगर आयुक्त से बात करें. वहीं, जब नगर आयुक्त से संपर्क किया गया, तो उन्होंने कॉल ही रिसीव नहीं किया. बयान लेने के लिए उनसे मैसेज द्वारा भी संपर्क किया गया, लेकिन उनसे संपर्क नहीं किया जा सका.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

%d bloggers like this: