न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

कागजात होने के बावजूद  विहिप और बजरंग दल के लोगों ने मवेशी लदे दो मालवाहक के चालकों की पिटायी की

दोनों वाहनों के चालक पर पशु क्रूरता अधिनियम के तहत केस दर्ज कर पुलिस जुटी जांच में

1,278

Giridih: गौवंश और बछड़ो से लदे दो मालवाहक वाहनों को गिरिडीह विहिप और बजरंग दल ने शहर के बरगंडा स्थित नया पुल के समीप जब्त कर पचंबा गोपाल गौशाला को सौंप दिया. दोनों वाहनों के साथ उसके चालक बिहार के बक्सर निवासी वकील यादव, शिवजी यादव के साथ गौवंश कारोबारी प्रेमचंद यादव को भी संगठन के कार्यकर्ताओं ने दबोच कर नगर थाना पुलिस को सौंप दिया. पशु कारोबारी प्रेमचंद यादव के साथ बक्सर से गौवंश और बछड़ो को खरीद कर देवघर ले ले जाने के अलग-अलग कागजातों के साथ गिरिडीह और हजारीबाग एसपी के नाम देवघर के जिला गव्य विकास पदाधिकारी के कागजात मौजूद थे. नगर थाना प्रभारी आदिकांत महतो ने देवघर के गव्य विकास पदाधिकारी से संपर्क किया, तो बताया गया कि गौवंश से लदे दोनों वाहनों को बक्सर से देवघर के मेद्या डेयरी पहुंचाया जाना था. मामले में रविशंकर पांडेय के आवेदन पर नगर थाना की पुलिस ने दोनों वाहनों के चालक पर पशु क्रूरता अधिनियम के तहत केस दर्ज लिया है और मामले की जांच शुरू कर दी है. दोनों वाहनों में वैद्य गौवंश और बछड़ो के मौजूद होने की बात नगर थाना प्रभारी ने बतायी है.

जिला गव्य विकास पदाधिकारी, देवघर की ओर से मवेशियों को ले जाने के संबंध में जारी किया गया अनुमति पत्र.

इसे भी पढ़ेंः उपायुक्त के आदेश पर तीन महीने बाद भी नहीं हुई कार्रवाई, विभागीय पदाधिकारी जानबूझकर बने हैं अंजान

40 गाय और दो बछड़े लदे थे दोनों वाहनों में  

जानकारी के अनुसार दोनों वाहनों में 40 गाय और 19 बछड़े लदे थे. लेकिन वाहनों में गौवंश और बछड़ो को क्रूरता के साथ लादा गया था. विहिप कार्यकर्ता चंदन मोदी ने शहर के विहिप और बजरंग दल नेता मनोज सिंह, शिवशक्ति साहा और सुरेश रजक को फोन पर पूरे मामले की जानकारी देते हुए बताया कि गौवंश से लदे दो बड़े वाहन शहर जा रहे हैं.

SMILE

इसे भी पढ़ेंः केबल नेटवर्क डीडीसी कंपनी के मालिक पर कॉपीराइट और धोखाधड़ी का केस दर्ज

बरगंडा नया पुल के समीप पकड़े गये दोनों वाहन

जानकारी मिलने के बाद विहिप व बजरंग दल के कार्यकर्ता रविशंकर पांडेय, सीताराम, समृद्धि, राजेश राम, रितेश, डब्लू रजक समेत दर्जन भर कार्यकर्ता शहर के पचंबा समेत झंडा मैदान में दोनों वाहनों को पकड़ने के लिए जुटे. लेकिन पचंबा और झंडा मैदान से दोनों वाहनों के चालक संगठन के कार्यकर्ताओं को चकमा देकर वाहन लेकर निकलने में सफल रहे. इसके बाद कार्यकर्ताओं ने दोनों वाहनों को बरगंडा नया पुल के समीप दबोचने में सफलता पायी. जहां कार्यकर्ताओं ने वाहन चालकों के साथ पशु कारोबारी को भी जमकर पीटा और दोनों वाहनों को सुरक्षित पचंबा गौशाला पहुंचाया गया.

इसे भी पढ़ेंः धर्मांतरण कर चुके आदिवासियों को एसटी का जाति प्रमाणपत्र देना बंद करे सरकार : फूलचंद तिर्की

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: