Crime NewsJamshedpurJharkhandKhas-Khabar

Jamshedpur Crime : जमशेदपुर के लिए नया नहीं है फर्जी पुलिसकर्मी बन आपराधिक वारदातों को अंजाम देने का ट्रेंड, गहने ले उड़ने से लूटपाट तक, र‍ह‍िए चौकन्‍ना 

Rajkishor
Jamshedpur : लौहनगरी जमशेदपुर में अपराध का ग्राफ कम होने का नाम नहीं ले रहा है. खासकर, फायरिंग और हत्या के मामले तो गाहे-बगाहे सामने आते ही रहते हैं. इस बीच चोरी और छिनतई जैसी घटनाएं आम हो गयी हैं. उससे भी चौंंकानेवाली बात है फर्जी पुलिसकर्मी बनकर आपराधिक घटनाओं को अंजाम देने का ट्रेंड, जो शहर में थमता नजर नहीं आ रहा है. बिरसानगर के जोन नंबर-1 में 22 जून की रात करीब साढ़े दस बजे सामने आया मामला इसका ताजा उदाहरण है. पुलिस की वर्दी पहने एक युवक का दूसरे युवक के साथ भाजपा नेता हरदेव सिंह कक्के के घर पर जाना अपने-आप में कई संदेह उत्पन्न करता है. यह बात अलग है कि भाजपा नेता समय रहते सतर्क हो गये और बिरसानगर पुलिस को बुलाने की बात कह डाली, इससे बाइक सवार दोनों युवक मौके से भाग निकले. नहीं तो जिस तरह युवकों में से एक के पिस्तौल कॉक करने की बात सामने आ रही है उससे यही जाहिर होता है कि युवकों की मंशा सही नहीं थी. वैसे इससे पहले भी शहर में फर्जी पुलिसकर्मी बनकर पहनकर अपराधी घटनाओं को अंजाम दे चुके हैं.

साकची में हो चुकी है 10 लाख के जेवर की ठगी
साकची के बसंत टॉकिज के पास 18 फरवरी को हॉलमार्क के दो कर्मचारियों से फर्जी पुलिसकर्मी बनकर करीब 10 लाख के जेवर की ठगी की जा चुकी है. घटना शाम के वक्त तब घटी थी जब जेवरों पर हॉलमार्क लगाने वाले दुकान के दो कर्माचारी गहनों से भरा बैग लेकर जा रहे थे तभी बाइक से पुलिस के ड्रेस में पहुंचे युवक ने कर्मचारियों को रोककर किनारे ले जाकर पूछताछ की थी. फिर गहनों से भरा बैग ले उड़ा था. इस मामले में पुलिस ने अपराधियों की तस्वीर भी जारी किया था. फिर भी मामले का खुलासा अब तक नहीं हो सका है.

काशीडीह में महिला से ठग लिए थे 5 लाख के जेवर
उस घटना के दो हफ्ते बाद ही फर्जी पुलिसकर्मी बनकर दो युवकों ने काशीडीह की एक महिला से करीब 5 लाख के जेवर ठग लिए थे. घटना तब घटी थी जब 17 मार्च की सुबह स्थानीय चंद्राबली अपार्टमेंट में रहनेवाली उषा देवी बाराद्वारी मैदान से मॉर्निंग वॉक कर अपने घर लौट रही थी. उसी दौरान अपार्टमेंट के गेट से भीतर आते समय दौड़ता हुआ एक युवक महिला के पास पहुंचा और कहा कि पुलिसवाले उसे बुला रहे हैं. दो दिन पहले एक महिला से छिनतई हुई है. इस कारण हमलोग सिविल ड्रेस में महिलाओं को जेवर पहनकर घूमने से रोक रहे हैं. आप भी अपने जेवर खोलकर कागज में रख लें. फिर क्या था-महिला युवकों के झांसे में आ गई और अपने हाथ से दोनों कंगन, अंगूठी और गले की चेन निकाल लिया. इस बीच युवक ने अपनी जेब से कागज निकाला और जेवर उसमें रख दिया. इसके बाद पीड़िता उस कागज को साड़ी में बांधकर घर लौट गयी. घर लौटने पर कागज को खोला, तो जेवर गायब थे. इससे दंग महिला ने थाने में घटना की लिखित शिकायत की थी. वहीं, पूरा माजरा सीसीटीवी में भी कैद हो गया था.

Catalyst IAS
ram janam hospital

सोनारी में पुलिसकर्मी बनकर लूटपाट
इसके अलावा सोनारी के आदर्शनगर में पुलिसकर्मी बनकर लूट-पाट का मामला पूर्व में सामने आ चुका है. वहीं, बिष्टुपुर डाक घर के पीछे क्वार्टर में एक कर्मचारी की पत्नी से भी पुलिसकर्मी बनकर ठगी का मामला आ चुका है. पुलिस इस तरह की घटनाओं पर अंकुश लगाने को लेकर सतर्क है, फिर भी यह कुछ ऐसे मामले हैं जो रह-रहकर सामने आ जाते हैं.

The Royal’s
Sanjeevani

ये भी पढ़ें- NEWSWING EXCLUSIVE : वीडियो में देखें – प्रेम प्रकाश के खिलाफ FIR करने गये उत्पाद आयुक्त क्यों थाने से लौट गये, किस-किस का आया था फोन

Related Articles

Back to top button