JharkhandLead NewsRanchi

मंडरो की धरती में छिपा है मानव जीवन की उत्पत्ति का खजाना: मुख्यमंत्री

Ranchi : धरती की उत्पत्ति कैसे हुई? मानव और अन्य जीवों की रचना का क्या आधार था? किस तरह मानव जीवन का विकास होता चला गया? मंडरो- राजमहल की पहाड़ियों का इतिहास इसकी गवाह है. मुख्यमंत्री हेमन्त सोरेन ने आज साहिबगंज जिले के मंडरो में विश्वस्तरीय फॉसिल्स पार्क तथा फॉसिल्स म्यूजियम-सह-ऑडिटोरियम उदघाटन करने के क्रम में उक्त बातें कही. मुख्यमंत्री ने फॉसिल पार्क का भ्रमण भी किया.

इसे भी पढ़ें:एकनाथ शिंदे ने ली सीएम पद की शपथ, बने महाराष्ट्र के 20वें मुख्यमंत्री, देवेंद्र फडणवीस बने उपमुख्यमंत्री

विशेष आकर्षण का केंद्र होगा यह पार्क

Catalyst IAS
ram janam hospital

मुख्यमंत्री ने कहा कि मंडरो की पहाड़ियों पेड़ों और चट्टानों का इतिहास उतना ही पुराना है जितना धरती पर जीवों के आगमन काल और शायद उससे भी पुराना. यह फॉसिल्स पार्क न सिर्फ पर्यटकों के लिए विशेष आकर्षण का केंद्र बनेगा, बल्कि भूगर्भ शास्त्रियों और विद्यार्थियों के शोध को भी नई दिशा देगा.

The Royal’s
Pitambara
Sanjeevani
Pushpanjali

इसे भी पढ़ें:12वीं आर्ट्स और कॉमर्स का रिजल्ट जारी, 12वीं आर्ट्स में 97.43 फीसदी छात्र पास

दुनिया में गिने-चुने हैं ऐसे जगह

मुख्यमंत्री ने कहा कि धरती पर मानव जीवन की रचना का इतिहास बताने वाले गिने चुने ही जगह पूरी दुनिया में हैं. उसमें साहिबगंज स्थित मंडरो की धरती पहले स्थान पर है. यहां की पहाड़ियों और जंगलों में ऐसा खजाना छिपा है, जो बिरले ही कहीं देखने को मिलेगा. यहां के फॉसिल्स ब्रह्मांड की रचना के पूरे इतिहास को अपने आप में समेटे हुए है. पूरे देश-दुनिया को इसकी जानकारी हो. साथ ही यहां के फॉसिल्स को संरक्षित रखने के लिए ही इसे फॉसिल पार्क का रूप दिया गया है.

इस अवसर पर सांसद विजय कुमार हांसदा, वन विभाग के एपीसीसीएफ एनके सिंह, क्षेत्रीय वन संरक्षक सतीश चंद्र राय समेत कई पदाधिकारी मौजूद थे.

इसे भी पढ़ें:झारखंड : 5 लाख से ज्यादा नकली नोटों के साथ आरोपी गिरफ्तार, अफीम कारोबार में होता था पैसे का इस्तेमाल

Related Articles

Back to top button