JamshedpurJharkhand

Jamshedpur : जमशेदपुर से पौने चार करोड़ का राजस्व देने वाला यातायात विभाग का मानगो और गोलमुरी का नही है कार्यालय भवन, मानगो कंटेनर में तो गोलमुरी सड़क किनारे होता है संचालित

ANAND RAO 

JAMSHEDPUR : दिनों दिन जमशेदपुर शहर में बढ़ते वाहनों की संख्या के साथ ही यातायात विभाग की राजस्व में भी बढ़ोतरी हो रही रही है. सरकार को प्रति माह 30 लाख तो सालाना औसतन पौने चार करोड़ का राजस्व प्राप्त होती है. ये राजस्व हेलमेट, ट्रिपल राइड, कागजात एवम नशा और रैश ड्राइव के चेकिंग में वसूला जाता है. लेकिन विडंबना यह है कि मानगो और गोलमुरी का अपना कार्यालय भवन नही है जबकि साकची और बिस्टुपुर थाना परिसर में अपना यातायात कार्यालय मौजूद है लेकिन गोलमुरी और मानगो का कार्यालय सड़क पर ही चलता है. वर्षो पूर्व तेज़ तरार एसपी अजय कुमार ने शहर के चौक चौराहों पर चेकिंग पोस्ट बनवाया था, आज उसी पोस्ट पर गोलमुरी यातायात कार्यालय संचालित होती है उसमें भी सिर्फ कागजात ही रखे जाते है. अन्य सारे कार्य अधिकारियों को खुले आसमान के नीचे सड़क किनारे करना पड़ता है. यही हाल मानगो का भी है. यहां भी पहले चेक पोस्ट पर ही कार्यालय हुए करता था लेकिन सड़क चौड़ीकरण के कारण अब पास ही सड़क किनारे कंटेनर रख दिया गया जहां से कार्य संपादित किया जाता है जबकि इन दोनों से प्रत्येक माह 5 से 6 लाख का राजस्व विभाग को प्राप्त होता है.

वाहनों को रखने में होती है परेशानी

इस मामले गोलमुरी यातायात प्रभारी भूषण कुमार और मानगो यातायात प्रभारी राजेश कुमार सिंह ने व्यवस्था पर चिंता जताया है. भूषण कुमार ने कहा कि यह यातायात कार्यालय गोलमुरी सहित सिदगोड़ा, सीतारामडेरा, बिरसानगर, टेल्को, गोविंदपुर और बर्मामाइंस कुल 7 थाना क्षेत्र को कवरेज करता लेकिन अपना भवन नही होने से चेकिंग के दौरान बिना फाइन दिए गए जब्त वाहनों को रखने में काफी परेशानी होती. उन्हें स्थानीय थाना के भरोसे में वाहनों को रखना पड़ता है. इधर मानगो प्रभारी राजेश कुमार ने भी इसी तरह की परेशानियों का सामना करने की बात कही इनके अधीन मानगो, उलीडीह, आजादनगर और एमजीएम थाना क्षेत्र आता है. इनका प्रयास रहता है कि ऑनलाइन प्रक्रिया के तहत फाइन काटकर रिलीज कर दे. बावजूद कई वाहन चालक सक्षम नही होने पर वैसे वाहनों को स्थानीय थाना में रखवा दिया जाता है अपना भवन होने पर इस तरह का समस्या का सामना नही करना पड़ेगा.

समुचित रूप से नही है कैमरे, क्रेन, नो पार्किंग ज़ोन और स्पीड डिस्प्ले
इतना ही नही इन क्षेत्रो में समुचित रूप से सीसीटीवी कैमरे नही लगे है. वाहन ले जाने के लिए क्रेन और ट्रक उपलब्ध भी नही है. इसके लिए इन्हें साकची कार्यालय पर निर्भर रहना पड़ता है इसके अलावे नो पार्किंग ज़ोन और स्पीड डिस्प्ले नही होने से रफ्तार पर कंट्रोल और वाहन खड़ी करने की सही जानकारी वाहन चालकों को नही हो पाती है जिस वजह से ट्रैफिक जाम की स्तिथि उत्पन्न हो जाती है. प्रभारी भूषण ने बताया कि इस समस्या से निदान एवं भवन के लिए सर्कर्स मैदान के आस पास के ज़मीन को चिन्हित कर विभाग को प्रस्ताव भेजा गया है.

क्या कहा प्रभारी ट्रैफिक डीएसपी कमलकिशोर ने
प्रभारी ट्रैफिक डीएसपी कमल किशोर ने बताया कि इन दो थाना के यातायात कार्यालय नही होने से काफी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. पूर्व में भी इस समस्या को लेकर पत्राचार किया गया था. झारखंड पुलिस भवन निर्माण निगम लिमिटेड को ज़मीन उपलब्ध नही होने से दोनो थाना को अपना यातायात कार्यालय भवन नही मिल पाया है. लेकिन अब गोलमुरी के लिए जमीन चिन्हित किया गया है और मानगो के लिए बन रहे नए थाना भवन में कार्यालय उपलब्ध कराने के लिए प्रस्ताव भेजा गया है जल्द ही दोनो थाना के लिए अपना कार्यालय भवन होगा.

 

 

 

Related Articles

Back to top button