JharkhandLead NewsRanchi

Dumka Right Control Plan के लिए बनी टीम, 52 कंधों पर दंगा-फसाद रोकने की जिम्मेवारी

Ranchi: झारखंड की उपराजधानी दुमका में राइट कंट्रोल प्लान के तहत एक टीम का गठन किया गया है. दंगाइयों से निपटने के लिए यह टीम विशेष रुप से फोकस करेगी. यह टीम दुमका में दंगा जैसी स्थिति पर विशेष नजर रखेगी. इस टीम में 52 लोग शामिल है, जिसमें एक एसआई, तीन एएसआई, 12 महिला आरक्षी और 36 पुरुष आरक्षी शामिल है. इस टीम में जिले के अनुभवी पुलिसकर्मियों को शामिल किया गया है. टीम में विभिन्न शाखाओं के पुलिसकर्मी शामिल है.

इसे भी पढ़ें : झारखंड वैज्ञानिक सहायक परीक्षा का Result जारी, पांच अप्रैल से होगा डॉक्यूमेंट वेरिफिकेशन

जिनकी निगाहें ऐसे गतिविधि वाले लोगों पर लगी रहेंगी. इसको लेकर दुमका एसपी अंबर लकड़ा ने बीते शुक्रवार को आदेश जारी किया है. आदेश में कहा गया है कि यह टीम दुमका के अंदर होने वाले दंगे की स्थिति में नियंत्रण के लिए कार्रवाई करेगी. टीम में आंसू गैस दस्ता भी शामिल रहेगी. दंगा-फसाद होने की स्थिति में टीम के लोग पुलिस केंद्र को सूचित करेगे. बता दें कि जनवरी में मुख्य सचिव की अध्यक्षता में वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के माध्यम से सेंसटाइल क्राइम और लॉ एंड आर्डर की समीक्षा बैठक में निर्देश दिया गया था. इसके बाद डीजीपी ने पत्र जारी कर आदेश जारी किया था.

ये लोग है टीम में शामिल

अनिल कुमार महली (एसआई), अरविंद कुमार द्वेदी, श्याम सुंदर झा और शिवप्रसन राम (एएसआई), राजेश्वर राम, अजित कुमार, कौशल किशोर राय, विन्देश्वरी कुमार, तितर सिजुई, सुमन कुमार पांडेय, शिवशंकर मंडल, श्यामलाल बोईपाई, संतोष कुमार नवनीत कुमार, अमर कुमार सिंह जहांगीर हुसैन, अजन्त प्रधान, विशुन कुजुर, संजय ठाकुर, अंगुस्टिना लकड़ा, दुलाल बाउरी, मऩि कच्छप, सुना उरांव, निरंजन सिंह मुंडा, गुलाम सिमदानी, रौनक अफरोज, जेनेउर रहमान, कुणाल प्रसाद राणा, प्रमोद कुमार साह, धनुषधारी मांझी, मो समीर अख्तर, जुलियस सोरेन, शैलेश कुमार गुप्ता, अजय कुमार दास, आशिष कुमार झा, सिमोन लुगुन, विजय शर्मा दिनू मुर्मू, मार्शल तामसोय, भारतीक मरांडी, अभिषेक मुर्मू, मुनिया देवी, मंजुषा होरो, नीलम कुमारी, सौदामिनी गिरी, पंकू हंसदा, ज्योति हेब्रम, संध्या कुमारी, पूनम हंसदा, सरोमिनी सफिरा कंडुलना, तितर सिजुई, कुमार नंदनी प्रधान और सीनी पुर्ति (आरक्षी).

इसे भी पढ़ें :  झारखंड टेक्निकल यूनिवर्सिटी को मिला है अधिकार, फिर भी झारखंड कंबाइंड के भरोसे ले रहा एडमिशन

Related Articles

Back to top button