NationalTODAY'S NW TOP NEWS

अनुच्छेद 35-ए पर सुप्रीम कोर्ट में सुनवाई आज, विरोध में अलगाववादियों का कश्मीर बंद

NewDelhi/ Shrinagr: सुप्रीम कोर्ट में सोमवार को अनुच्छेद 35A को चुनौती देने वाली याचिका पर सुनवाई होगी. इस सुनवाई पर सिर्फ घाटी के लोगों की ही नहीं बल्कि पूरे देश की नज़रें हैं. इधर 35-A के मुद्दे पर सुनवाई के बीच अलगाववादियों ने दो दिन का बंद बुलाया है, जिसका सोमवार को दूसरा दिन है.

इसे भी पढ़ेंः91 सैंपल की जांच में 57 चिकनगुनिया और डेंगू के 3 नये मामले सामने आए

उल्लेखनीय है कि राज्य सरकार ने उच्चतम न्यायालय के पंजीयक के समक्ष आवेदन दायर कर सूचित किया है कि वह राज्य में आगामी पंचायत और नगर निकाय चुनावों के लिए चल रही तैयारियों के मद्देनजर सुनवाई पर स्थगन की मांग करने जा रही है.

Catalyst IAS
ram janam hospital

कश्मीर बंद असरदार

The Royal’s
Pushpanjali
Pitambara
Sanjeevani

उच्चतम न्यायालय में अनुच्छेद 35-ए की वैधता को कानूनी चुनौती के खिलाफ अलगाववादियों के दो दिनों के पूर्ण बंद के आह्वान का असर दिखा. रविवार को कश्मीर में जनजीवन पूरी तरह से प्रभावित हुआ है. हड़ताल के कारण पूरी घाटी में दुकान और व्यवसायिक प्रतिष्ठान बंद हैं जबकि सड़कों पर कोई वाहन नहीं चल रहा है.

उच्चतम न्यायालय में अनुच्छेद 35-ए की वैधता को चुनौती देने वाली एक जनहित याचिका पर सोमवार को सुनवाई की तारीख तय किये जाने को लेकर ज्वाइंट रसिस्टेंट लीडरशिप (जेआरएल) ने दो दिवसीय बंद का आह्वान किया है. बार एसोसिएशन, ट्रांसपोर्टर एवं व्यापारिक संगठनों सहित विभिन्न संगठनों ने जेआरएल के बंद का समर्थन किया है. जेआरएल में सैयद अली शाह गिलानी, मीरवाइज उमर फारूख और मोहम्मद यासिन मलिक शामिल हैं.

इसे भी पढ़ेंःमसानजोर डैम की तरफ आंख उठाकर देखने वाले की आंखें निकाल ली जायेगीः लुईस मरांडी

अमरनाथ यात्रा स्थगित

अलगाववादियों द्वारा आहूत दो दिन की हड़ताल के चलते रविवार को जम्मू से अमरनाथ यात्रा स्थगित कर दी गई. अधिकारियों ने बताया कि अमरनाथ यात्रा के लिए जम्मू में डेरा डाले तीर्थयात्रियों को आज सुबह भगवती नगर आधार शिविर से आगे जाने की अनुमति नहीं दी गई.

चेनाब घाटी के जिलों रामवन, डोडा और किश्तवाड़ से अनुच्छेद 35 ए के समर्थन में आंशिक हड़ताल और शांतिपूर्ण रैलियों की खबर है.

गौरतलब है कि अनुच्छेद 35-ए के तहत राज्य में जम्मू कश्मीर के बाहर के किसी व्यक्ति के अचल संपत्ति खरीदने पर रोक है. अधिकारियों ने बताया कि पूरी घाटी में स्थिति शांतिपूर्ण है और अब तक कहीं से किसी अप्रिय घटना की खबर नहीं है. अधिकारियों ने बताया कि कानून और व्यवस्था बनाए रखने के लिए शहर और कश्मीर में दूसरी अतिसंवेदनशील जगहों पर सुरक्षा बलों की तैनाती बढ़ाई गयी है.

35-ए के समर्थन में कई पार्टियां

नेशनल कान्फ्रेंस, पीडीपी, माकपा और कांग्रेस की राज्य इकाई सहित राजनीतिक दल और अलगाववादी अनुच्छेद 35 ए पर यथास्थिति बनाए रखने की मांग कर रहे हैं. वही हुर्रियत नेता बिलाल वार ने कहा कि 35 ए के कारण कश्मीर एक है. अगर इसे हटाया गया तो जंग छिड़ जाएगी. इधर, चार दिनों पहले नेशनल कॉन्फ्रेंस के नेता जावेद राणा ने कहा कि बंद के दौरान कोई तिरंगा नहीं उठाएगा. ऐसा करने पर अंजाम बुरा होगा.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Related Articles

Back to top button