न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

स्लॉटर हाउस मैनेजर का आरोप- कांग्रेस और JMM नेताओं ने बंधक बनाकर दी कंपनी छोड़ने की धमकी

355

Ranchi : राजधानी के कांके स्थित माइक्रो ट्रांसमिशन सिस्टम कंपनी (एमटीएस) द्वारा संचालित स्लॉटर हाउस का काम अभी ठीक तरह से शुरू भी नहीं हुआ है और इसे विवादों ने घेर लिया है. स्लॉटर हाउस के मैनेजर रेहान कुरैशी ने आरोप लगाया है कि उन्हें बंधक बनाकर मानसिक रूप से प्रताड़ित किया गया है. रेहान कुरैशी ने न्यूज विंग को बताया कि कुछ दिनों पहले कांग्रेस और जेएमएम से जुड़े दो स्थानीय नेताओं ने उन्हें कांके स्थित स्लॉटर हाउस के अंदर बंधक बनाकर मानसिक रूप से प्रताड़ित किया था. यहां तक कि उन्हें कंपनी के कार्य को छोड़ने की धमकी दी थी. बाद में उन्होंने उनके चंगुल से निकलकर किसी तरह अपनी जान बचायी थी.

इसे भी पढ़ें- न्यूज विंग की बात हुई सच, एमटीएस नहीं, कांग्रेसी नेता अब चलायेंगे स्लॉटर हॉउस

दो माह का वेतन नहीं देने पर बनाया बंधक

न्यूज विंग से बातचीत में एमटीएस कंपनी के मैनेजर रेहान कुरैशी ने बताया कि कंपनी के मालिक सुरेश झा के अंतर्गत संचालित स्लॉटर हाउस के अंदर उन्होंने एक बड़ी राशि इन्वेस्ट की है. हालांकि, स्लॉटर हाउस चलाने के कागजात एमटीएस के नाम से बनाये गये थे. रेहान कुरैशी ने कहा, “कुछ दिनों पहले जब कांके स्थित स्लॉटर हाउस में खस्सी कटाई का काम शुरू किया गया था, तो वहां के दो असामाजिक लोगों ने, जो खुद को कांग्रेस और जेएमएम का नेता बता रहे थे, मुझ पर दबाव डालना शुरू किया कि उनके कुछ मजदूरों को स्लॉटर हाउस के अंदर काम पर रख लिया जाये. मैंने उनकी बात मानकर उनके मजदूरों को काम पर रख लिया. बाद में जब कंपनी की आर्थिक स्थिति बिगड़ने लगी, तो उनके मजदूरों को दो माह का वेतन देने में देरी लगायी. हालांकि मैंने इन मजदूरों को जल्दी ही वेतन देने की बात भी उन नेताओं से की थी. इसके बावजदू उन्होंने मेरी बात नहीं सुनी और स्लॉटर हाउस के अंदर ही मुझे बंधक बना लिया. अगले दिन मैंने किसी तरह उनके चंगुल से निकलकर अपनी जान बचायी थी.” रेहान कुरैशी ने दावा किया है कि निगम के तत्कालीन नगर आयुक्त शांतनु अग्रहरि को भी इस बात की जानकारी थी. हालांकि, अब जब उनका तबादला पलामू उपायुक्त के पद पर हो गया है, तो उन्होंने इसकी जानकारी वर्तमान नगर आयुक्त मनोज कुमार को भी दे दी है.

स्लॉटर हाउस मैनेजर का आरोप- कांग्रेस और JMM नेताओं ने बंधक बनाकर दी कंपनी छोड़ने की धमकी
कांके स्थित स्लॉटर हाउस.

इसे भी पढ़ें- टैक्स टेररिज्म के जरिये गरीबों का खून चूस रही है भाजपा: झामुमो

प्राथमिकी दर्ज करायें मैनेजर, तब निगम करेगा कार्रवाई : नगर आयुक्त

palamu_12

पूरे मामले पर नगर आयुक्त मनोज कुमार का कहना है कि स्लॉटर हाउस चलाने के लिए निगम और एमटीएस के बीच एक एग्रीमेंट किया गया था. अब जब कंपनी के मैनेजर रेहान कुरैशी ने कहा कि उन्होंने इस स्लॉटर हाउस पर एक बड़ी राशि निवेश की है, तो सबसे पहले यह देखना होगा कि इसका कोई लिखित प्रमाण है कि नहीं. जहां तक इन स्थानीय नेताओं द्वारा उन्हें बंधक बनाने की बात है, तो उन्होंने पीड़ित को कहा है कि वह प्राथमिकी दर्ज करायें. इसके बाद ही निगम की तरफ से लीगल परामर्श लेकर कोई ठोस कार्रवाई की जायेगी. उन्होंने कहा कि कुछ दिनों पहले ही उन्होंने नगर आयुक्त का पद संभाला है, वह देखेंगे कि एग्रीमेंट के अंदर रेहान कुरैशी का नाम है या नहीं. अगर एमटीएस कंपनी किसी अन्य पक्ष को यह एग्रीमेंट बेचना चाहती है, तो जब कंपनी इस संदर्भ में निगम में कोई आवेदन देती है, पीड़ित उस समय अपना पक्ष रख सकते हैं. इस संदर्भ में एग्रीमेंट का प्रोविजन जो भी कहता है, उसे देखकर ही निगम कुछ निर्णय लेने में समक्ष हो पायेगा.

इसे भी पढ़ें- राज्‍यपाल ने कहा- झारखंड के 50 फीसदी बच्चे कुपोषण के शिकार

निगम को भी नहीं है स्लॉटर हाउस की गतिविधियों की जानकारी

बता दें कि कुछ दिनों पहले ही न्यूज विंग ने ‘एमटीएस नहीं, अब कांग्रेसी नेता चलायेंगे स्लॉटर हॉउस’ शीर्षक से खबर प्रकाशित की थी.  एमटीएस कंपनी के मालिक सुरेश झा ने भी न्यूज विंग से बातचीत में कहा था कि स्लॉटरिंग की डे-टू-डे गतिविधि के लिए ही स्थानीय कंपनी ‘अर्स एंड एलम लाइव स्टोक एक्सपोर्टर’ को स्लॉटर हाउस का काम दिया गया है. उनका कहना था कि अगर स्थानीय कंपनी को काम नहीं देते हैं, तो उनकी बात शहर में सुनेगा कौन. पूरे मामले की जानकारी निगम को होने के सवाल पर उन्होंने कहा था कि संबंधित स्थानीय कंपनी के संचालक अभी शहर से बाहर हैं, जल्द ही वह रांची पहुंचकर इससे संबंधित कागजात निगम को उपलब्ध करा देगी. ऐसे में इस बात से यह अंदाजा लगाया जा रहा है कि स्लॉटर हाउस के पीछे किसी न किसी तरह की कोई गतिविधि घट रही है, जिसकी खबर न तो नगर आयुक्त को है और न ही नगर विकास विभाग को.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: