National

10 रुपये के सिक्के लेने से दुकानदार ने इनकार किया, कोर्ट ने सजा सुना दी

 Bhopal : मध्यप्रदेश के एक दुकानदार को ग्राहक से दस रुपये के सिक्के लेने से इनकार करना भारी पड़ गया. मुरैना की स्थानीय अदालत ने उस दुकानदार को कलेक्टर के आदेश की अवहेलना का दोषी करार देते हुए अदालत उठने तक की सजा और 200 रुपये का जुर्माना भरने का आदेश दिया. इस संबंध में सहायक लोक अभियोजक अधिकारी भूपेंद्र सिंह के अनुसार आकाश नाम के ग्राहक ने मुरैना के जौरा कस्बे में बनियापारा स्थित दुकानदार अरुण जैन की दुकान से 17 अक्टूबर 2017 को दो रुमाल खरीदे.

इसके बदले उन्होंने दुकानदार को 10-10 रुपये के दो सिक्के दिये. लेकिन दुकानदार ने 10 रुपये के सिक्के यह कहते हुए आकाश को वापस कर दिये कि ये सिक्के अब बाजार में चलन में नहीं हैं.

इसे भी पढ़ें- SC/ST एक्ट पर सुप्रीम कोर्ट का फैसला पलट देगी मोदी सरकार, कैबिनेट ने दी संशोधन को मंजूरी

दुकानदार नहीं माना और 10 रुपये के सिक्के नहीं लिये

इस पर आकाश ने दुकानदार को बताया कि कलेक्टर मुरैना का आदेश है कि 10 रुपये के सिक्कों को लेने से कोई इनकार नहीं कर सकता और ये सिक्के बाजार में चलन में हैं. इसके बावजूद दुकानदार नहीं माना और उसने ग्राहक से रुमाल वापस लेकर उसे वहां से चलता कर दिया. भूपेंद्र सिंह ने बताया कि आकाश ने घटना की रिपोर्ट जौरा पुलिस थाने में दर्ज कराई. पुलिस ने दुकानदार अरुण जैन के खिलाफ कलेक्टर द्वारा सिक्के स्वीकार करने के संबंध जारी आदेश का उल्लंघन करने का मामला दर्ज कर दुकानदार को गिरफ्तार कर लिया.

advt

जौरा के न्यायिक मैजिस्ट्रेट जेपी चिडार की अदालत ने मामले की सुनवाई के बाद दुकानदार अरुण जैन को आईपीसी की धारा 188 के तहत कलेक्टर के आदेश की अवहेलना करने का दोषी पाया और उसे अदालत उठने तक की सजा दी तथा 200 रुपये का जुर्माना लगाया.

इसे भी पढ़ें-सेबी ने कोलकाता हाई कोर्ट में पोंजी स्कैम के आरोपी केडी सिंह के देश से भागने की आशंका जताई

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं 

adv
advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button