National

ऑल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड का अधिवेशन 28 को, मॉब लिंचिंग पर सख्त कानून बनाने की मांग होगी

NewDelhi : देश में शिया मुसलमानों के सबसे बड़े संगठन ऑल इंडिया शिया पर्सनल लॉ बोर्ड  का वार्षिक अधिवेशन 28 जुलाई को होगा. अधिवेशन में  मॉब लिंचिंग पर कड़े कानून और शिया समुदाय के लिए सच्चर समिति की तर्ज पर अलग से समिति गठित करने समेत कई अहम मुद्दों पर चर्चा संभव है. बोर्ड के प्रवक्ता मौलाना यासूब अब्बास ने रविवार को भाषा को बताया कि 28 जुलाई को लखनऊ में आयोजित बोर्ड के एकदिवसीय वार्षिक अधिवेशन में सरकार से मॉब लिंचिंग के खिलाफ सख्त कानून बनाने की मांग की जायेगी.

मौलाना यासूब अब्बास  ने मॉब लिंचिंग की घटनाओं का जिक्र करते कहा कि एक खास समुदाय के लोगों को भीड़ द्वारा हिंसा का शिकार बनाया जा रहा है.  शिया समुदाय मानता है कि ऐसी घटनाओं को रोकने के लिए  कड़ा कानून बने,  मॉब लिंचिंग के लिए  मौत की सजा तक तय की जानी चाहिए. अब्बास ने कहा कि प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी सबका साथ, सबका विकास और सबका विश्वास का नारा देते हैं, लेकिन कुछ नेताओं के बयानात से विश्वास बढ़ने की बजाय टूट रहा है.

शिया मुसलमान अल्पसंख्यकों में भी अल्पसंख्यक हैं.

बोर्ड प्रवक्ता ने कहा कि बोर्ड की बैठक के एजेंडे में   सरकारों द्वारा शिया समुदाय को नजरअंदाज किये जाने का मुद्दा भी शामिल है.  उन्होंने आरोप लगाया कि आजादी के बाद से ही सरकारों ने शिया समुदाय की उपेक्षा करते हुए उन्हें उनका हक नहीं दिया. बोर्ड के  प्रवक्ता ने कहा कि शिया पर्सनल लॉ बोर्ड चाहता है कि सरकार सच्चर समिति की तर्ज पर शिया मुसलमानों की आर्थिक, सामाजिक और शैक्षणिक स्थिति के अध्ययन के लिए अलग से कोई समिति गठित करे. यह समिति शिया समुदाय के हालात का सर्वेक्षण करके उन्हें उनकी आबादी के हिसाब से हक दे.

advt

अब्बास ने कहा कि शिया मुसलमान अल्पसंख्यकों में भी अल्पसंख्यक हैं. देश में उनकी आबादी लगभग पांच फीसद ही है.  लखनऊ स्थित साइंटिफिक कंवेंशन सेंटर में आयोजित होने वाले बोर्ड के इस वार्षिक अधिवेशन में उत्तर प्रदेश के अलावा बिहार, गुजरात, आंध्र प्रदेश, महाराष्ट्र, तमिलनाडु और तेलंगाना समेत देश के विभिन्न हिस्सों से एक हजार से ज्यादा शिया धर्मगुरु शिरकत करेंगे.

इसे भी पढ़ें :  कश्मीर में अशांति फैलाने के लिये यासीन मलिक ने ISI से लिए पैसे: NIA

advt
Advertisement

Related Articles

Back to top button