न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राजधानी रांची में खुलेआम हो रही है गांजा की बिक्री, पुलिस है मूकदर्शक

302

Ranchi: शहर में खुलेआम प्रतिबंधित नशीले पदार्थ का कारोबार हो रहा है. सरकार द्वारा गांजा, चरस, अफीम और हेरोइन जैसे नशीले पदार्थों पर प्रतिबंध लगाने के तमाम दावे खोखले साबित हो रहे हैं. शहर में हरेक माह करोड़ों रुपए के गांजा का अवैध कारोबार शहर के कई थाना क्षेत्र में हो रहा है. इसकी जानकारी पुलिस को भी है, लेकिन पुलिस जान कर भी मौन है. शहर की छोटे-छोटे गुमटियों में खुलेआम गांजा बेचा जा रहा है.

mi banner add

इसे भी पढ़ें – पलामू: लेफ्टिनेंट अनुराग पंचतत्व में विलीन, नम आंखों से पलामूवासियों ने दी शहीद को विदाई

हर दिन 10 किलो खपत

राजधानी रांची में गांजा का कारोबार बड़े स्तर पर हो रहा है. इस बात का अंदाजा इसी से लगाया जा सकता है कि रांची में हर दिन 10 किलो से अधिक गांजा की खपत हो रही है. गांजा की इस खपत को पूरा करने के लिए बस के जरिए ओड़िशा से इन दिनों सबसे अधिक गांजा आ रहा है.

इसे भी पढ़ें – सिंहभूम सीटः भाजपा प्रदेश अध्यक्ष लक्ष्मण गिलुआ ने किया नामांकन, रघुवर दास और मंगल पांडेय रहे मौजूद

ट्रेन और बस से रांची आता है गांजा

राजधानी रांची में गांजा का सप्लाई करने वाले सरगना बस और ट्रेन को कुरियर की तरह इस्तेमाल कर रहे हैं. इस कार्य में महिलाएं भी शामिल हैं. इस कारण सरगना तक गांजा की खेप आसानी से पहुंच जाती है. राजधानी में गांजा की सप्लाई करनेवाले लोगों के मुख्य ग्राहक छोटे-छोटे गुमटी वाले होते हैं. जो गांजा की छोटी-छोटी पुड़िया बना कर बेचते हैं. हालांकि, कांटाटोली स्थित खादगढ़ा बस स्टैंड से कई बार ब्राउन शुगर और गांजा लानेवाले लोगों को पुलिस गिरफ्तार कर चुकी है. इसमें महिलाएं भी शामिल हैं.

इसे भी पढ़ें – हेमंत करकरे पर प्रज्ञा ठाकुर के बयान को कुतर्क से सही ठहराना भयावह

इन इलाकों में खूब होती है गांजे की बिक्री

रांची रेलवे स्टेशन के समीप, लोअर चुटिया, तिरिल तालाब, मधुकम, हटिया, डोरंडा, हातमा बस्ती, किशोरगंज के समीप बड़ा तालाब, पुरुलिया रोड, कर्बला चौक, मोरहाबादी मैदान, हरमू पुल, विद्यानगर सहित कई इलाकों में ब्राउन शुगर से लेकर गांजा तक की बिक्री हो रही है. कई स्थान तो थाने के करीब होने के बाद भी पुलिस नशे के कारोबारियों को नहीं पकड़ रही है.

इसे भी पढ़ें – पीएम के रोड शो को लेकर नया ट्रैफिक रूट चार्ट जारी, पांच घंटे पहले पहुंचना होगा एयरपोर्ट

सिगरेट में भर कर बेचा जा रहा है गांजा

राजधानी रांची में दो तरह से गांजे से की बिक्री हो रही है. एक तो गांजा का कारोबार करनेवाले घूम-घूम कर पुड़िया में भर कर गांजा बेचने का काम करते हैं, वहीं दूसरी ओर छोट-छोटी गुमटियों के दुकानदार सिगरेट में गांजा भर कर बेचने का काम कर रहे हैं.

कई युवा नशे के लिए पैसे की जुगाड़ करने के लिए लूट, चोरी और हत्या जैसे अपराध करने से भी नहीं हिचक रहे हैं. यह सब पुलिस को पता है. फिर भी इन्हें रोका नहीं जा रहा. रुपया कमाने के चक्कर में कई लोग इसके एजेंट बन कर स्कूल और कॉलेज के छात्रों के बीच गांजा बेचने का काम कर रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – हो भाषा को 8वीं अनुसूची में शामिल करने के लिए होगी अनुशंसाः रघुवर दास

झारखंड में होती है गांजा और अफीम की खेती

झारखंड के जिलों में कहीं गांजा तो कहीं अफीम की खेती होती है. नशीले पदार्थ की खेती को नष्ट करने के लिए पुलिस तो अभियान चलाती है, लेकिन इसके बावजूद भी पूरी तरह से नशीले पदार्थ की फसल नष्ट नहीं हो पाती है. झारखंड में गांजा और अफीम को खरीदने के लिए दूसरे राज्यो से भी नशा तस्कर पहुंच रहे हैं.

इसे भी पढ़ें – रांची संसदीय सीट से 20 उम्मीदवार चुनाव मैदान में, तीन अभ्यर्थियों ने लिया नाम वापस

हाल के दिनों में रांची में बरामद हुआ गांजा

  • 15 दिसंबर 2018 तमाड़ इलाके से पुलिस 62 किलो गांजे के साथ एक महिला समेत तीन को गिरफ्तार किया था. पकड़े गए गांजा की कीमत लगभग 20 लाख रुपए बताई गई थी.
  • 21 फरवरी 2019 न्यू मार्केट रातू रोड चौक पर गांजा बेचते दो महिलाओं को गिरफ्तार किया गया इनके पास से 76 पुड़िया गांजा (करीब 400 ग्राम) बरामद किया गया था.
  • 26 फरवरी 2019 आतंकवाद निरोधी दस्ता रांची ने मिली गुप्त सूचना के आधार कार्रवाई करते हुए 102 किलो गांजे के साथ छह लोगों को गिरफ्तार किया था.

इसे भी पढ़ें – मतदान की स्याही दिखाने पर व्यवसायी लोगों को विशेष छूट दें, छोटे व्यवसायी भी चुनाव के दिन संस्थान रखें बंद: चैंबर

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
%d bloggers like this: