न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राम मंदिर पर आरएसएस आंदोलन को तैयार, कहा, सुप्रीम कोर्ट के जवाब से हिंदू अपमानित महसूस कर रहा

याजी जोशी के अनुसार हम चाह रहे थे कि दिवाली से पहले कुछ शुभ समाचार मिलेगा. लेकिन अब सुप्रीम कोर्ट ने इसे टाल दिया है, यह उनका अधिकार है.

25

Mumbai : मुंबई में तीन दिन तक चली आरएसएस की बैठक शुक्रवार को खत्म हो गयी. बैठक खत्म होने के बाद आयोजित प्रेस कॉन्फ्रेंस में संघ के सरकार्यवाहक भैयाजी जोशी ने कहा कि अगर जरुरत पड़ेगी तो हम एक बार फिर 1992 जैसा आंदोलन करेंगे. इस क्रम में भैयाजी जोशी ने कहा कि अयोध्या को लेकर पिछले 30 सालों से हम आंदोलन कर रहे हैं. कहा कि समाज की अपेक्षा है कि अयोध्या में राम मंदिर बने. लेकिन इसमें कानूनी बाधाएं हैं. भैयाजी जोशी ने उम्मीद जताई कि सुप्रीम कोर्ट हिंदू समाज की भावनाओं को ध्यान में रखते हुए अपना फैसला देगा. लेकिन कोर्ट के जरिए भी इसके निर्माण में बहुत देरी हो रही है. कहा कि 2010 में इलाहाबाद कोर्ट के फैसले के बाद से ही मंदिर का मामला सुप्रीम कोर्ट में है. जब मामला तीन सदस्यीय पीठ के पास पहुंचा. भैयाजी जोशी के अनुसार हम चाह रहे थे कि दिवाली से पहले कुछ शुभ समाचार मिलेगा. लेकिन अब सुप्रीम कोर्ट ने इसे टाल दिया है, यह उनका अधिकार है.

इसे भी पढ़ें :  अयोध्या में राम मंदिर के लिए अध्यादेश लाना असंवैधानिक होगा : पी चिदंबरम

संघ हम जिले के आगे बढ़कर गांव, तालुका तक आगे बढ़ रहा है

भैयाजी ने कहा कि जब कोर्ट से पूछा गया कि इसके बारे में आप कब बतायेंगे, तो उन्होंने कहा कि हमारी प्राथमिकता अलग है. सुप्रीम कोर्ट के जवाब से हिंदू समाज अपमानित महसूस करता है. सुप्रीम कोर्ट इस मामले को जल्द से जल्द सुने. हमें सुप्रीम कोर्ट के फैसलों की उपेक्षा नहीं है, लेकिन न्यायालय की जिम्मेदारी बनती है कि वे लोगों की भावनाओं का सम्मान करे.  अगर कोई विकल्प नहीं बचता है, तो सरकार को इस पर भी विचार करना ही पड़ेगा. आरएसएस के कार्यक्रमों को लेकर भैयाजी जोशी ने कहा कि हम हमेशा कार्यकारी मंडल की बैठक में   समीक्षा करते हैं. उन्होंने कहा कि संघ हम जिले के आगे बढ़कर गांव, तालुका तक आगे बढ़ रहा है. ऐसी  लगभग 70000 यूनिट बनानी हैं, 32000 जगह तक पहुंच गये हैं. इसके अलावा भी स्कूल, सेल्फ हेल्प ग्रुप, अस्पताल के जरिए संघ कई जगहों पर काम कर रहा है.

इसे भी पढ़ें : दोषी करार नेताओं पर आजीवन प्रतिबंध लगाने की याचिका पर सुनवाई को तैयार SC

 भाजपा अध्यक्ष अमित शाह संघ प्रमुख मोहन भागवत से मिले

शुक्रवार को ही भाजपा अध्यक्ष अमित शाह ने बैठक के खत्म होने पर संघ प्रमुख मोहन भागवत से मुलाकात की. भागवत के अलावा शाह कई अन्य संघ नेताओं से भी मिले. बता दें कि भागवत और शाह के बीच हुई मुलाकात में राम मंदिर निर्माण के अलावा विधानसभा चुनाव और लोकसभा चुनावों के बारे में चर्चा हुई. अमित शाह गुरुवार देर रात ही मुंबई पहुंचे थे. अयोध्या में विवादित स्थल पर मंदिर के जल्द निर्माण के लिए कानून बनाने को लेकर सत्तारूढ़ भाजपा और आरएसएस के भीतर से मांग उठने लगी है.  कांग्रेस कह चुकी है कि सभी पक्षों को न्यायालय के आदेश का पालन करना चाहिए.  विश्व हिंदू परिषद भी राम मंदिर निर्माण के लिए केंद्र से अध्यादेश लाने की मांग कर रही है.  मनमोहन वैद्य ने कहा था, अब हमारे पास सबूत हैं, साथ ही मुद्दा बिना फैसले के अदालत में लंबे समय से लंबित है.  अब मुद्दा बस जमीन अधिग्रहण करने और मंदिर निर्माण के लिए इसे सौंपने का है.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: