JamshedpurJharkhand

बहरागोड़ा कांग्रेस प्रखंड अध्यक्ष के पोल्ट्री फार्म में करंट से मरे युवक के परिजनों को मिलेगा सात लाख का मुआवजा

Jamshedpur : बहरागोड़ा प्रखंड क्षेत्र की मानुषमुड़िया पंचायत अंतर्गत धानघोरी गांव में पोल्ट्री फार्म में करंट लगने से मरे चाकुलिया प्रखंड अंतर्गत रुपुसकुंडी गांव के मिथुन नायक के परिजनों को सात  रुपये मुआवजा देने पर सहमति बनी है. पोल्ट्री फार्म के मालिक सह कांग्रेस पार्टी के बहरागोड़ा प्रखंड अध्यक्ष सनत कुमार भोल ने एक लाख रुपये का ऑनलाइन भुगतान कर दिया है. इसके अलावा सोमवार को एक लाख नकद देने तथा एक महीने के अंदर चेक के माध्यम से तीन लाख और तीन महीने के अंदर और दो लाख का चेक देने की बात उन्होंने कही. लिखित सहमति के बाद ग्रामीणों ने धरना खत्म कर दिया.

Advt

धरना पर बैठे थे ग्रामीण, रविवार को होगा पोस्टमार्टम

उल्लेखनीय है कि मिथुन नायक (36) की मौत से आक्रोशित परिजन और ग्रामीण मुआवजे की मांग को लेकर पोल्ट्री फार्म पर शव के साथ धरना पर बैठ गये थे. ग्रामीणों ने बताया कि मृतक मिथुन की 6 साल की बेटी और 4 साल का बेटा है. बताया गया कि घटना के समय पोल्ट्री फार्म के मालिक सनत भोल वहां मौजूद नहीं थे. जब वे भागने लगे, तो उपस्थित भीड़ ने उनके साथ मारपीट कर उन्हें पोल्ट्री फार्म के अंदर बंद कर दिया. उसके बाद करीब 500 से अधिक की संख्या में पुरुष और महिलाएं पोल्ट्री फार्म के पास आकर मुआवजे के लिए नारेबाजी करने लगे. सूचना पाकर जिला परिषद सदस्य शिवचरण हांसदा, समीर सेना के संयोजक राकेश महंती मौके पर पहुंचे और मुआवजे के लिए बैठ गये. वे 20 लाख रुपये मुआवजा देने की मांग कर रहे थे.  सूचना पाकर बरसोल थाना के अवर निरीक्षक  गोपाल कृष्ण, उपेंद्र कुमार व डीएसपी कुलदीप टप्पो ने मौके पर पहुंचकर मामले की जानकारी ली. इस दौरान पोल्ट्री फार्म मालिक सनत भोल ने इतनी बड़ी रकम देने में असमर्थता जतायी. भाजपा के पूर्व जिला अध्यक्ष सरोज महापात्रा पहुंचे और डीएसपी कुलदीप टोप्पो से बातचीत कर ऑन द स्पॉट लिखा-पढ़ी करने को कहा. आखिर में सात लाख रुपया देने पर सहमति बनी. लिखित समझौता होने के बाद शव को उठाया गया. रविवार को पोस्टमार्टम के बाद शव को परिजनों को सौंप दिया जायेगा. अंत में बहरागोड़ा थाना प्रभारी कुमार सौरभ दलबल के साथ मौके पर पहुंचे.

फार्म में नहीं थी पोल्ट्री, फिर भी दौड़ रहा था करंट

बताया गया कि पोल्ट्री फार्म के संचालक सनत भोल की लापरवाही के कारण उक्त घटना घटी. उन्होंने फार्म के चारों तरफ लोहे की जाली लगाकर करंट प्रवाहित कर रखा था. जबकि फार्म में कोई पोल्ट्री नहीं थी. उसी की चपेट में आकर मिथुन की मौत हुई.  मौके पर भुतिया पंचायत के मुखिया प्रतिनिधि बिधान चंद्र मंडी, चाकुलिया के सांसद प्रतिनिधि पार्थो महतो, ग्राम प्रधान सोमाय मुर्मू, भाजपा नेता कमल कांत सिंह, धनेश्वर मुर्मू, शशांक शेखर बारिक, पिंटू चंद, चिन्मय नायक, नंदलाल पातर, निलीश बंद, सुमन महापात्र, सुखेन दास, मदन घटवारी, रातिलाल राणा आदि उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें – पोल्ट्री फार्म के चारों तरफ मालिक ने लगा रखा था करंट, चपेट में आकर काम करनेवाले युवक की मौत

Advt

Related Articles

Back to top button