न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पेट्रोल-डीजल की कीमतों पर झारखंड सरकार ने भी छोड़े टैक्स के 2.50 रुपये, दाम में कुल पांच रुपये की आयी कमी

234

Ranchi : केंद्र सरकारर के बाद झारखंड सरकार ने भी राज्य की जनता को पेट्रोल और डीजल की किमतों मे कमी कर राहत देने का फैसला किया है. मुख्यमंत्री रघुवर दास ने पेट्रोल और डीजल की कीमतों में 2.50 रुपये की कमी करने का निर्णय लिया है. इस संबंध में सीएम रघुवर दास ने पेट्रोल और डीजल पर राज्य सरकार के टैक्स में 2.50 रुपये छूट देने का निर्णय लिया है. इस संबंध में वाणिज्य कर सचिव केके खंडेलवाल को आवश्यक कार्रवाई करने के निर्देश दिये हैं. केके खंडेलवाल ने बताया कि पेट्रोल-डीजल के दाम कम करने की दिशा में आवश्यक कार्रवाई सीएम के स्तर से की जा रही है. इससे पहले आज केंद्र सरकार ने भी पेट्रोल और डीजल के दामों में 1.50 रुपये एक्साइज ड्यूटी कम कर दी और ओएमसी ने एक रुपये की कमी करने की घोषणा की. इससे देशभर में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में 2.50 रुपये की कमी आयी. अब राज्य सरकार के फैसले के बाद झारखंड में पेट्रोल-डीजल की कीमतों में कुल पांच रुपये की कमी आयी है. झारखंड में गुरुवार को पेट्रोल 82.46 रुपये प्रति लीटर बेचा गया. बता दें कि गुरुवार को भी पेट्रोल और डीजल के दामों में क्रमश: 15 पैसे और 20 पैसे प्रति लीटर की बढ़ोतरी दर्ज की गयी.

इसे भी पढ़ें- तेल की बढ़ती कीमतों के बीच सरकार ने दी फौरी राहत, पेट्रोल-डीजल के दाम में 2.50 रुपये की कटौती

केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने राज्य सरकारों से की थी अपील

बता दें कि गुरुवार को केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने प्रेस कॉन्फ्रेंस आयोजित कर पेट्रोल और डीजल की एक्साइज ड्यूटी में 1.50 रुपये की छूट की घोषणा की. वहीं, यह भी बताया गया कि तेल कंपनी भी कीमतों में एक रुपया की कटौती करेगी. इस दौरान केंद्रीय वित्त मंत्री अरुण जेटली ने राज्य सरकारों से भी वैट कम करने की अपील की, ताकि वहां से भी ढाई रुपये की राहत उपभोक्ताओं को मिल सके. इसी के मद्देनजर महाराष्ट्र, गुजरात सरकारों के अलावा झारखंड सरकार ने भी पेट्रोल-डीजल पर राज्य सरकार द्वारा लगाये जानेवाले टैक्स में 2.50 रुपये की कटौती करने का फैसला किया और इस तरह झारखंड में पेट्रोल और डीजल की कीमतों में कुल पांच रुपये की कमी आ गयी.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: