Crime NewsGiridihJharkhand

बेटी-नाती के अपहरण की शिकायत लेकर पहुंचे बुजुर्ग दंपती को थाना क्षेत्र में उलझा कर घुमाती रही पुलिस

निराश होकर एसपी तक पहुंचायी शिकायत, तब हरकत में आयी पुलिस

Giridih: शादीशुदा बेटी और नाती के अपहरण का केस दर्ज करने को लेकर दो थानों की पुलिस भुक्तभोगी के समीप टोपी ट्रांसफर करती रही. लेकिन मामला शहर के बस पड़ाव से जुड़ा हुआ था तो अंत में एसपी अमित रेणु के निर्देश पर गिरिडीह नगर थाना पुलिस हरकत में आयी और भुक्तभोगी माता-पिता से आवेदन लेकर केस दर्ज करने की प्रकिया में जुटी.

रविवार को नगर थाना पहुंचे भुक्तभोगी माता-पिता दसिया देवी और बालेश्वर रजक मुफ्फसिल थाना क्षेत्र के गादीश्रीरामपुर स्थित फूलची भरकट्टा गांव के रहने वाले है.

भुक्तभोगी माता-पिता ने बेटी प्रीति देवी और उसके बेटे के अपहरण का आरोप गांव के ही सुरेन्द्र तूरी पर लगाते हुए कहा कि उनकी बेटी प्रीति अपने दूधमुंहे बच्चे को लेकर अपनी गोतनी के साथ शनिवार दोपहर पीरटांड के घाटाडीह गांव से शहर इलाज कराने पहुंची थी. यात्री बस से जब तीनों शहर के बस पड़ाव उतरे तो बेटी प्रीति व उसके बेटे को उसकी गोतनी बस पड़ाव स्थित एक पेट्रोल पंप के समीप छोड़कर डॉक्टर के पास नंबर लगाने चली गई.

इसे भी पढ़ें : गिरिडीह की पचंबा पुलिस की मौजूदगी में भूमाफियाओं ने की मारपीट

नंबर लगाकर जब करीब एक घंटे बाद लौटी, तो गोतनी ने प्रीति व उसके बेटे को वहां से गायब देखा. इस दौरान गोतनी ने प्रीति को काफी तलाशा लेकिन कोई पता नहीं चला. इसके बाद गोतनी ने पूरे मामले की जानकारी पहले अपने पति और उसके बाद ससुराल वालों के साथ प्रीति के माता-पिता को दी.

बेटी और नाती के गायब होने की जानकारी मिलने के बाद माता-पिता भी शनिवार देर शाम शहर पहुंचे और पहले नगर थाना पहुंच कर घटना की जानकारी पुलिस को दी.

लेकिन नगर थाना पुलिस ने मामला मुफ्फसिल थाना का बताते हुए दोनों को मुफ्फसिल थाना भेज दिया. इस दौरान मुफ्फसिल थाना पुलिस भी मामले को नगर थाना का बताते हुए आवेदन लेने से ही इनकार कर दिया.

इस बीच देर रात भुक्तभोगी प्रीति के पिता के मोबाइल में फोन कर बेटी और नाती को सकुशल बरामद करने को लेकर पांच लाख की फिरौती मांगी गयी.

इधर दो थानों की पुलिस द्वारा आवेदन के आधार पर केस दर्ज किए जाने से इंकार करने पर भुक्तभोगी माता-पिता ने मामले की जानकारी एसपी को दी. इसके बाद एसपी के निर्देश पर नगर थाना पुलिस ने आवेदन पर कार्रवाई शुरू की.

इधर आवेदन देने के साथ पिता बालेश्वर ने बेटी व नाती के अपहरण का आरोप सुरेन्द्र तूरी पर लगाते हुए पुलिस के पास संदेह जाहिर किया कि फिरौती के लिए उनकी बेटी और नाती का अपहरण किया गया है.

इसे भी पढ़ें : Dhanbad : फंदे से झूलता मिला बीसीसीएल का सहायक मैनेजर

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: