न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

पीएम मोदी के साथ जेवीएम विधायक प्रकाश राम की तस्वीर वायरल, चर्चाओं का बाजार गर्म

1,894

Manoj Dutt Dev

Latehar: 5 जनवरी को पलामू प्रमंडल के चियाकी में आयोजित प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के कार्यक्रम के बाद लातेहार विधानसभा सीट से जेवीएम विधायक प्रकाश राम ने प्रधानमंत्री से मुलाकात की. इसकी तस्वीर सोशल मीडिया पर वायरल हो रही है. इस फोटो पर कई कमेंट्स भी किये जा रहे हैं. कोई दल-बदलू कह रहा है, तो कोई मौकापरस्त कह रहा है. तस्वीर देखकर कई लोग प्रकाश राम के बीजेपी में शामिल होने की आशंका भी जता रहे हैं.

क्षेत्र में प्रत्याशियों की कमी नहीं: भाजपा

भाजपा जिला अध्यक्ष ने बताया कि लातेहार विधानसभा सीट से प्रत्याशियों की कमी नहीं है. संतोष पासवान, कामेश्वर भोक्ता, बृजमोहन राम, सोमनाथ गंझू, फूलचंद गंझू, लाइन में हैं. यदि जेवीएम विधायक प्रकाश राम भाजपा में शामिल होते हैं तो प्रदेश संगठन फैसला लेगी. हम भाजपा के सिपाही हैं. प्रदेश संगठन का निर्णय ही मेरा निर्णय होगा. ज्यादा टिप्पणी नहीं करूंगा.

भाजपा कार्यकर्ताओं के साथ जेवीएम विधायक प्रकाश राम

अवसरवादी नेता हैं प्रकाश राम

राजद के प्रदेश कार्य समिति के सदस्य एवं लातेहार जिला के वारीय नेता लक्ष्मण यादव ने ने कहा कि जेवीएम विधायक प्रकाश राम स्वार्थी हैं. नीति सिद्धांत इनके पास नहीं है. मौके का फायदा उठाना जानते हैं, उनके राजनीतिक इतिहास से भी यह पता चलता है. माकपा के पूर्व जिला सचिव व वरीष्ठ नेता अयूब खान ने बताया कि जेवीएम विधायक प्रकाश राम अवसरवादी हैं. वह अवसरवाद की राजनीति करते हैं. आगामी चुनाव में शायद इन्हें जेवीएम से टिकट ना मिले और प्रतीत भी हो रहा है कि इन्हें टिकट नहीं मिलेगा. जिस कारण ये भाजपा में शामिल होने की तैयारी पिछले एक साल से कर रहे है.

विधायक की हैसियत से सरकारी कार्यक्रम में शामिल हुए प्रकाश राम

जेवीएम के जिला अध्यक्ष समसुल होदा ने बताया कि पलामू में जो कार्यक्रम हुआ वह प्रधानमंत्री का सरकारी कार्यक्रम था. वह भाजपा का कार्यक्रम नहीं था. जेवीएम विधायक प्रकाश राम क्षेत्र के विधायक हैं और वह उसी हैसियत से कार्यक्रम में गये थे. वहीं उन्होंने बताया कि जेवीएम में अभी कोई और प्रत्याशी नहीं है, श्री राम ही हैं केवल.

विधायक प्रकाश राम बोले- तस्वीर खिंचवा लेने से पार्टी नहीं बदलती

विधायक प्रकाश राम ने कई तरह की आशंकाओं और टिप्पणियों पर जवाब देते हुए कहा कि पार्टी बदलने का अभी कोई इरादा नहीं है. प्रधानमंत्री से मुलाकात क्षेत्र का विधायक होने के नाते किया हूं. यह कार्यक्रम भी भाजपा का नहीं था. प्रधानमंत्री का सरकारी कार्यक्रम था. तस्वीर खिंचवा लेने से कोई पार्टी नहीं बदल जाती है.

कई पार्टी बदलने का रहा है इतिहास

जेवीएम विधायक प्रकाश राम ने अपनी राजनीति की शुरुआत 1985 में माकपा पार्टी से की थी. 1990 और 1995 में माकपा के टिकट से चुनाव भी लड़े, लेकिन दोनों बार इन्हें शिकस्त मिली. उसके बाद वह साल 2000 में राजद में शामिल हुए और चुनाव लड़े. इस बार भी हार गये. वे 2005 में फिर से राजद के टिकट से चुनाव लड़े और पहली बार जीतकर विधायक बने. 2010 में भी वह राजद के टिकट से चुनाव लड़े और महज 400 वोटों से हार गये. इस हार के बाद वह जेवीएम पार्टी में शामिल हो गये और 2014 के विधानसभा चुनाव में जीतकर विधायक बने.

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: