NEWS

गिरिडीह शहर के लोग जरुरतमंदों का भर रहे पेट, कोई खाद्य सामग्री तो तो कोई बांट रहा दूध

विज्ञापन

Giridih : मुसीबत के इस दौर में सबसे बड़ी परेशानी पेट भरने की है. एक तरफ जमाखोरी को लोग बढ़ावा दे रहे हैं तो दूसरी तरफ गिरिडीह शहर के लोग इंसानियत की मिसाल भी पेश कर रहे हैं. लॉकडाउन के पांचवें दिन कुछ ऐसी तस्वीरें शहर की सामने आई हैं. जिसमें बाभनटोली रोड निवासी सईद अख्तर अपने मुहल्ले के वार्ड पार्षद बुंलद अख्तर समेत अन्य लोगों के साथ खाद्य समानों का पैकेट तैयार कर जरुरतमंदो तक भोजन और जरुरी समान पहुंचा रहे हैं.

इंसानियत की मिसाल शहर के कुछ युवा भी निभाते दिख रहे हैं. जो ड्यूटी में तैनात पुलिस कर्मियों के साथ दो वक्त का पेट भरने वाले लोगों तक पहुंच कर नाश्ते का पैकेट देते दिखे.  वार्ड पार्षद बुंलद अख्तर व उनके मुहल्ले के लोग सरसों तेल, आटा, चावल, साबून, दूध, मसाले का पैकेट तैयार कर हर उन लोगों तक पहुंच रहे है. जिनके घर जरुरत का सामान नहीं पहुंच पा रहा है.

advt

इसे भी पढ़ेंः #FightAgainstCorona : मेडिकल, इमरजेंसी, डोर टू डोर जैसी सेवाओं के लिए जिला प्रशासन जारी कर रहा ई-पास

ये नौजवान भी कर रहे हैं खाद्य सामग्री का वितरण

इधर शहर के ही विक्की कोहली, उत्कृर्ष पांडेय, आंनद त्रिवेदी, अतुल रंजन, शुभम बरनवाल भी नाश्ता का पैकेट तैयार कर पुलिस कर्मियों को भोजन करा रहे है. वहीं वितरण के क्रम में जो जरुरतमंद दिखते हैं. उन्हें भी नाश्ते का पैकेट दिया जा रहा है. शहर के युवाओं की यह टोली करीब तीन दिनों से इस अभियान में जुटी हुई है. यही नहीं मजदूरों और ठेला चालकों को भी नाश्ते का पैकेट दे रहे हैं.

जो शहर में रहकर थोक मंडी से खुदरा दुकानदारों तक खाद्य सामान अपने ठेले से पहुंचा रहे हैं. इधर गिरिडीह प्रभा डेयरी के संचालक अनुराग कुमार व उनके दोस्त राजन सिन्हा सोनू, आशुतोष तिवारी ने पांचवें दिन कई जरुरतमंदो के बीच दूध के पैकेट वितरण किया.

adv

बच्चों के साथ जो महिलाएं बस पड़ाव में भटकती दिखीं, वैसी हर महिला को प्रभा डेयरी के संचालक व उनके दोस्तों ने दूध के पैकेट उपलब्ध कराएं.

इसे भी पढ़ेंः कोविड-19 :  भारत में कोरोना के मरीजों की संख्या 979 हुई, 25 की मौत, 24 घंटे में 106 नये मामले सामने आये

मुंगेर के सात मजदूर पैदल चलकर जमशेदपुर से गिरिडीह पहुंचे

जमशेदुपर से गिरिडीह पहुंचे मजदूर.

रांची, तेनुघाट, बोकारो जैनामोड़ के रास्ते डुमरी होते हुए मुंगेर जिले सात मजदूर हलक सूखाने वाली गर्मी में पैदल चल कर गिरिडीह पुहंचे.

इस दल में शामिल खड़गपुर के मजदूर दिलीप कुमार ने बताया कि वे अपने छह और साथियों मनीष कुमार, राहुल कुमार, पांचू कुमार, भौनी कुमार, कनीश कुमार और भजन कुमार के साथ जमशेदपुर के एक प्लांट में काम करते हैं. लॉकडाउन के बाद वे अपने परिवार के साथ रहना चाहते हैं. इसलिए पैदल ही चल पड़े हैं. और इसी तरह मुंगेर तक जायेंगे.

इसे भी पढ़ेंः #CoronaUpadates : रिम्स में रविवार को 14 की हुई जांच, 13 निगेटिव, एक का होगा रिपीट टेस्ट

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close