JamshedpurJharkhand

राहत की खबर – शहर में तीसरी लहर ढलान पर, टीएमएच में एडमिट होने वाले मरीजों की संख्या आधी से कम हुई

शहर में 20 मरीजों में ओमिक्रोन वैरिएंट की पुष्टि, 20 दिन पहले भेजा गया था सैंपल

Jamshedpur : शहरवासियों के लिए राहत की खबर यह है कि जमशेदपुर में कोरोना की तीसरी लहर अब ढलान पर है. शुक्रवार को टाटा स्टील के मेडिकल सर्विसेस के एडवाइजर डॉ राजन चौधरी ने पिछले एक हफ्ते में टाटा मेन हॉस्पिटल (टीएमएच) में आये मरीजों के आंकड़ों के आधार पर यह दावा किया कि जमशेदपुर में तीसरी लहर ढलान पर है. उन्होंने वर्चुअल प्लेटफॉर्म पर मीडिया को बताया कि पिछले हफ्ते में टीएमएच में केवल 100 मरीज एडमिट हुए, जो उसके पहले वाले सप्ताह में 221 थे. इस तरह एडमिशन में 50 प्रतिशत से ज्यादा की गिरावट आ गयी है. इसके चलते केरला समाजम मॉडल स्कूल में जो आउटडोर हॉस्पिटल चल रहा था, उसे गुरुवार 20 जनवरी से बंद कर दिया गया है. डॉ.चौधरी ने बताया कि टीएमएच की पोजिटिविटी रेट में भी कमी आयी है. पिछले साल आरटीपीसीआर टेस्ट की पोजिटिविटी रेट 42.20 थी, जो इस सप्ताह घटकर 24.90 हो गयी है. यही नहीं, इस सप्ताह टीएमएच में आरटीपीसीआर टेस्ट में केवल 711 पॉजिटिव मामले आये, जो पिछले सप्ताह 1950 थे. इस तरह जितने भी इंडिकेटर्स हैं, वे बता रहे हैं कि तीसरी लहर अपने ढलान पर है. यह पूछे जाने पर कि केवल टीएमएच के आंकड़ों के जरिये यह निष्कर्ष कैसे निकाला जा सकता है? तो उस पर कहा कि टीएमएच में हर लहर में सर्वाधिक मरीजों का इलाज होता रहा है. पिछले दो लहर में भी देखा गया कि जब टीएमएच के आंकड़े कम होने लगे तो लहर ढलान पर रही.

Sanjeevani

टीएमएच में 20 मरीजों में ओमिक्रॉन वायरस की पुष्टि

MDLM

डॉ.राजन चौधरी ने पुष्टि की टीएमएच ने गत 3 जनवरी को भुवनेश्वर वायरोलोजी लैब में जिन 180 मामलों के जीनोम सिक्वेंसिंग टेस्ट के लिए सैंपल भेजा था, उसकी रिपोर्ट आ गई हैं. 180 में से 20 ओमिक्रॉन वैरिएंट की पुष्टि हुई हैं जबकि बाकी डेल्टा के सब वैरिएंट हैं, जो कम खतरनाक होते हैं. इसके अलावा 121 सैंपल की रिपोर्ट आनी बाकी हैं. उन्होंने माना कि शहर में ओमिक्रॉन का संक्रमण बहुत पहले हो गया था, भले ही उसकी पुष्टि आज हो रही हैं.

टीएमएच में 20 साल से कम के 24 मरीजों का इलाज

डॉ राजन चौधरी ने कहा कि तीसरी लहर में बच्चों पर वायरस का प्रभाव हुआ हैं. लेकिन डरने वाली बात नहीं है. टीएमएच में केवल एक बच्चे की मौत हुई है, वह भी उसे हॉर्ट की बीमारी थी. अभी टीएमएच में दो बच्चों का इलाज चल रहा है.

इसे भी पढ़ें – गणतंत्र दिवस परेड की रिहर्सल के दौरान नौसेना के जवानों ने गाया गाना, ‘मोनिका ओ माई डार्लिंग’, देखें VIDEO

Related Articles

Back to top button