Sports

  लॉकडाउन के बीच खेल के मैदान से आयी ये राहत की खबर:  कड़े निर्देशों के बीच जर्मन फुटबॉल लीग पिच पर लौटी

Berlin :  जर्मन फुटबॉल लीग शनिवार से पिच पर लौट गयी और कोरोना वायरस महामारी के बाद बहाल होने वाली यह पहली यूरोपीय लीग बन गयी.

दो महीने के ब्रेक के बाद जर्मन फुटबॉल लीग ने मैचों की बहाली के लिये असाधारण विस्तृत योजना चांसलर एंजेला मर्केल और अन्य 16 नेताओं को भेजी थी. उन्होंने साथ ही संक्रमण को रोकने के लिये कई दिशानिर्देश भी भेजे थे.

advt

इसे भी पढ़ेंः हेमंत सोरेन का निर्देश: पैदल चलने वालों को जिला प्रशासन पहुंचाये उनके घर, कुछ जिला एक्टिव तो कुछ नींद में

स्टेडियम खाली होंगे, जिसमें सिर्फ खिलाड़ियों के चिल्लाने की आवाजें और रैफरियों की सीटी की आवाज सुनाई देगी. जर्मनी में अन्य यूरोपीय देशें कीतुलना में कोरोना वायरस से कम मौतें हुई हैं लेकिन फिर भी दर्शकों का लौटना अब भी खतरनाक है.

‘बोरूसिया डार्टमंड’ का सामना स्थानीय प्रतिद्वंद्वी ‘शाल्के 04’ से होगा. इस मुकाबले में सामान्य तौर पर 82,000 के करीब दर्शक आते, लेकिन अब यह बिना दर्शकों के खेला जायेगा.

adv

इसे भी पढ़ेंः राहुल गांधी ने कहा- आर्थिक पैकेज पर पुनर्विचार करे सरकार, न बने साहूकार

इंग्लैंड, इटली और स्पेन में अभी भी लीग फुटबॉल शुरू होने में एक महीना लगेगा. दर्शकों के बिना खेले जाने वाले इस मुकाबले में चुनिंदा मीडियाकर्मी और अधिकारी ही मौजूद होंगे.

लीग के दौरान स्थानापन्न खिलाड़ी मास्क पहनेंगे . गोल का जश्न कोहनी टकराकर मनाया जायेगा . ना तो कोई हाथ मिलायेगा और ना गले मिलेगा . ना तो किसी टीम को घर में खेलने का फायदा मिलेगा और ना मेहमान टीम घाटे में रहेगी.

इसे भी पढ़ेंः कोरोना में राजनीति का शुद्धिकरण कैसे?

advt
Advertisement

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button
Close