DhanbadJharkhandMain Slider

“सिंह मेंशन को टेंशन” देने में पहली बार उछला ‘गैंग्स ऑफ वासेपुर’ का नाम

Dhanbad: सिंह मेंशन के खासमखास रंजय सिंह हत्याकांड में नित्य नए खुलासे हो रहे हैं. दो दिन पहले बिहार के आरा से गिरफ्तार रंजय सिंह हत्या कांड का मुख्य आरोपी सह रघुकुल के कथित मामा उर्फ नंदकिशोर उर्फ बबलू ने इस हत्याकांड में वासेपुर गैंग्स की संलिप्त की बात कह पूरे कोयलांचल में सनसनी फैला दी है.

इसे भी पढ़ेंः मीडिया पर संपूर्ण नियंत्रण का इरादा अभिव्यक्ति की आजादी पर पहरा

‘वासेपुर के दो शूटरों ने मारी थी गोली’

जेल में बंद गैंगस्टर गोपी खान
Sanjeevani
MDLM

आरोपी मामा ने पुलिसिया पूछताछ में बताया कि उसने रंजय हत्याकांड में वासेपुर के दो शूटरों की मदद ली थी. उन्हीं शूटरों की गोलियों का शिकार रंजय सिंह हुआ था. आरोपी मामा की मानें तो वासेपर के नामचीन गैंगस्टर फहीम खान का भांजा गैंगस्टर गोपी खान के दो गुर्गों ने ही इस हत्याकांड को अंजाम दिया था. जिसके बाद धनबाद पुलिस लगातार वासेपुर में छापेमारी करती दिखी, लेकिन पुलिस के हाथ कुछ नहीं लगा है. वही गैंगस्टर गोपी खान अभी एक मामले में धनबाद जेल में बंद है. वही सूत्रों की मानें तो धनबाद पुलिस जल्द ही इस मामले में जेल में बंद गोपी खान से पूछताछ कर सकती है.

इसे भी पढ़ेंः आंगनबाड़ी पोषाहार को बताया बच्चों के लिए खतरनाक, देश के कई राज्यों में हुआ है विरोध

रंजय सिंह ने दी थी धमकी

वहीं आरोपी मामा ने बताया कि रंजय उसके काम के आड़े आ रहा था. दरअसल मामा धनबाद के सरायढेला थाना क्षेत्र स्थित रघुकुल के पास ही अपना घर बनवा रहा था. लेकिन रंजय सिंह उस घर को नहीं बनने दे रहा था. रंजय ने इसके लिए उसके निर्माणाधीन घर के पास अपने समर्थकों के साथ हथियार का प्रदर्शन कर उसे धमकी भी दी थी.

आगे पुलिस को मामा ने बताया कि इसी दरमियां एक दिन वो अपनी बाइक से कहीं जा रहा था. इसी बीच रंजय सिंह ने अपने एसयूवी कार से उसके मोटरसाइकल में धक्का मार उसे सड़क पर गिरा दिया और उसके आड़े न आने की फिर धमकी दी. तब उसे लगा कि पानी अब सर से ऊपर चला गया है. और फिर आरोपी मामा ने वासेपर के दो शूटरों की मदद से इस हत्याकांड को

इसे भी पढ़ेंः रांची में महामारी से अब तक तीन लोगों की मौत, जांच में मिले चिकनगुनिया के 27 व डेंगू के 2 मरीज

उल्लेखनीय है कि सिंह मेंशन के युवराज झरिया विधायक संजीव के खास रंजय सिंह की हत्या पिछले साल 29 जनवरी की शाम सरायढेला में गोली मारकर कर दी गई थी. जिसके बाद रघुकुल के युवराज सह कांग्रेस नेता नीरज सिंह की हत्या 21 मार्च 2017 को कर दी गई थी. नीरज सिंह की हत्या रंजय सिंह का प्रतिशोध माना गया था. जिस मामले में झरिया विधायक संजीव सिंह अब भी जेल में बंद हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Related Articles

Back to top button