न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

झारखंड में हर महीने बढ़ रहा है हत्या का ग्राफ, हर दिन औसतन 6 हत्याएं

314

Ranchi: झारखंड में हर महीने हत्या का ग्राफ बढ़ रहा है. औसतन हर दिन 6 हत्याएं हो रही हैं. झारखंड में हर महीने बढ़ रही हत्या की घटनाओं का खुलासा झारखंड पुलिस के आंकड़े से होता है. झारखंड पुलिस के आंकड़े के अनुसार जनवरी से लेकर जून तक झारखंड में हत्या की 958 घटनाएं हुई हैं. झारखंड पुलिस के आंकड़े के अनुसार जनवरी से लेकर जून तक हर महीने हत्या की घटना में बढ़ोतरी दर्ज की गयी है.

इसे भी पढ़ें – किसान-इंजीनियर जान दे रहे हैं और सरकार मुस्कुरा रही है

Trade Friends

हर महीने बढ़ रहा है ग्राफ

झारखंड में अपराधियों का मनोबल बढ़ता ही जा रहा है. वो आपराधिक घटनाओं को ऐसे अंजाम दे रहे हैं जैसे उनके अंदर किसी का खौफ ही बाकी न रहा हो. वर्ष 2019 में जनवरी से लेकर जून तक देखें तो हर महीने हत्या की घटनाओं का ग्राफ बढ़ता जा रहा है. जनवरी में 148, फरवरी में 125, मार्च में 149, अप्रैल में 164, मई में 181 और जून में 191 हत्या की घटनाएं हुईं. साफ तौर पर देखा जा रहा है कि हर महीने हत्या का ग्राफ बढ़ता जा रहा है.

60 प्रतिशत हत्याओं के पीछे जमीन का कारोबार

झारखंड में कुल होनेवाली हत्याओं में से 60% हत्या की घटना जमीन विवाद को लेकर हो रही है. झारखंड बनने के बाद राजधानी रांची सहित राज्य के कई बड़े शहरों में जमीन की कीमत काफी बढ़ी है. जैसे-जैसे जमीन की कीमत आसमान छूने लगी, वैसे-वैसे ही इस धंधे में अपराधियों ने भी पांव पसारना शुरू कर दिया. सफेदपोश जमीन माफियाओं ने इस धंधे में सीधे न उतर कर अपने-अपने इलाके के कुख्यात अपराधियों को मोटी रकम देकर सपोर्ट लेना शुरू कर दिया. संपत्ति विवाद में होनेवाली कुल हत्याओं में आधे से अधिक जमीन विवाद के कारण होती हैं. इनमें जमीन कारोबारी, जमीन की दलाली करनेवाले, खरीददार और बिक्री करनेवालों के अलावा परिवार के सदस्यों द्वारा की गयी हत्याएं भी शामिल हैं. हालांकि पुलिस के अनुसार झारखंड में अधिकांश हत्याएं छोटे-छोटे विवादों की वजह से भी होती हैं.

इसे भी पढ़ें – रिलायंस इंडस्ट्रीज की मीडिया में नहीं आती खबर, घाटे में चल रही कंपनी, जियो से बढ़ा कर्ज

Related Posts

#Durgapur  : चोरी हुई 17 मोटरसाइकिलें वीरभूम से बरामद, दो आरोपी गिरफ्तार

गिरफ्तार आरोपियों में बीरभूम निवासी शेख राजा उर्फ शेख अशरफुद्दीन एवं बीरभूम के दुबराजपुर के इलाका निवासी शेख बाबर अली शामिल हैं.

WH MART 1

प्रेम-प्रसंग और अवैध संबंध भी ले रहे हैं लोगों की जान

झारखंड में वर्ष 2019 में हुई हत्या की घटनाओं पर गौर करें तो कुछ ऐसी भी हत्याएं हुई हैं, जिनके पीछे प्रेम-प्रसंग और अवैध संबंध के मामले सामने आये हैं. जहां प्रेम-प्रसंग के मामलों में लड़का और लड़की दोनों की हत्याएं हुई हैं वहीं अवैध संबंध को लेकर भी झारखंड में कई लोगों की हत्याएं कर दी गई हैं. हाल के दिनों में जहां रामगढ़ में प्रेम प्रसंग के चलते प्रेमी युगल की बड़ी बेरहमी से हत्या कर दी गयी थी तो वहीं गुमला में अवैध संबंध को लेकर पति ने अपनी पत्नी और उसके प्रेमी की हत्या कर दी थी.

नक्सली भी कर रहे हैं आम लोगों की हत्या

झारखंड में नक्सली भी पुलिस की मुखबिरी का आरोप लगा कर आम लोगों की हत्या कर रहे हैं. वर्ष 2019 में अब तक नक्सलियों के द्वारा 12 लोगों की हत्या कर दी गयी है. बता दें कि पुलिस की मुखबिरी के आरोप में कोई नक्सलियों का शिकार बन जाता है तो कभी नक्सलियों को सहयोग करने के आरोप में पुलिस की जाल में फंस जाता है. इस तरह ग्रामीण इलाकों में रहनेवालों के लिए जिंदगी कठिन हो गयी है.

इसे भी पढ़ें – पहले मुझे थाना लेकर गये और एंबुलेस में बैठाया, उतरते ही जबरन हाथ में पकड़ा दी थाली

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

kohinoor_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like