न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

भुखमरी दूर नहीं कर पा रही माेदी सरकार, ग्लोबल हंगर इंडेक्स में 103वां स्थान  

भुखमरी दूर करने की भारत की कोशिशें परवान नहीं चढ़ रही हैं. खबरों के अनुसार 2018 के ग्लोबल हंगर इंडेक्स (Global Hunger Index) में भारत की रैंकिंग और नीचे गिरी है.

94

NewDelhi : भुखमरी दूर करने की भारत की कोशिशें परवान नहीं चढ़ रही हैं. खबरों के अनुसार 2018 के ग्लोबल हंगर इंडेक्स (Global Hunger Index) में भारत की रैंकिंग और नीचे गिरी है. बता दें कि भारत को 119 देशों की सूची में 103वां स्थान मिला है. जबकि पिछले साल भारत ग्लोबल हंगर इंडेक्स में 100वें स्थान पर था. खास बात यह है कि 2014 में केंद्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की अगुवाई वाली सरकार बनने के बाद से ग्लोबल हंगर इंडेक्स में भारत की रैंकिंग लगातार गिरी है. 2014 में भारत हंगर इंडेक्स में 55वें पायदान पर था.  2015 में 80वें, 2016 में 97वें और पिछले साल 100वें पायदान पर पहुंच गया. इस बार रैंकिंग तीन पायदान और गिर गयी.

इसे भी पढ़ें : मी टू… विवाद : केंद्रीय विदेश राज्य मंत्री एमजे अकबर ने अपना इस्तीफा ईमेल से भेजा ?

वैश्विक गरीबी सूचकांक के अनुसार एक दशक में भारत में 27 करोड़ लोग गरीबी रेखा से बाहर निकले

संयुक्त राष्ट्र विकास कार्यक्रम की 2018 बहुआयामी वैश्विक गरीबी सूचकांक के अनुसार वित्तीय वर्ष 2005-06 से 2015-16 के बीच यानी एक दशक में भारत में 27 करोड़ लोग गरीबी रेखा से बाहर निकल गये. बता दें कि  पिछले दिनों अमेरिकी राष्ट्रपति डोनाल्ड ट्रंप ने संयुक्त राष्ट्र महासभा के 73वें सत्र में इस संदर्भ में भारत की शान में कसीदे पढ़े थे. लाखों लोगों को गरीबी रेखा से बाहर निकालने के उन्होंने मोदी सरकार की पीठ थपथपाई, लेकिन ग्लोबल हंगर इंडेक्स ने तमाम दावों और आंकड़ों पर सवाल खड़े कर दिये हैं.

इसे भी पढ़ें : मुलायम की छोटी बहू अपर्णा चाचा शिवपाल के खेमे में, मंच साझा किया, अखिलेश से दूरी बढ़ने के संकेत  

  ग्लोबल हंगर इंडेक्स की शुरुआत 2006 में हुई थी

ग्लोबल हंगर इंडेक्स पर नजर डालें तो 2018 में भारत की स्थिति नेपाल और बांग्लादेश जैसे पड़ोसी देशों से भी बदतर  है. इस साल ग्लोबल हंगर इंडेक्स में बेलारूस नंबर वन है. चीन को 25वीं, बांग्लादेश को 86वीं नेपाल को 72वीं श्रीलंका को 67वीं और म्यांमार को 68वीं रैंक मिली है.  वैसे पाकिस्तान रैंकिंग में भारत से नीचे है. उसकी रैंक 106वीं है. इंटरनेशनल फ़ूड पॉलिसी रिसर्च इंस्टीट्यूट ने ग्लोबल हंगर इंडेक्स की शुरुआत 2006 में की थी. जर्मन संस्थान वेल्ट हंगरलाइफ़ 2006 में पहली बार ग्लोबल हंगर इंडेक्स जारी किया था. बता दें कि 2018 का इंडेक्स इसका 13वां संस्करण है.

जान लें कि ग्लोबल हंगर इंडेक्स में दुनिया के सभी  देशों में खानपान की स्थिति का विस्तृत ब्योरे का समावेश रहता है. खाद्य पदार्थ, उसकी गुणवत्ता और मात्रा कितनी है और उसमें कमियां क्या हैं, यह सब शामिल किया जाता है.  इसकी रैंकिंग हर साल अक्टूबर में जारी की जाती है

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.


हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: