GiridihJharkhand

मजदूरी कराने नाबालिग भाई-बहन को दलाल ले गए थे दिल्ली, पिता ने पुलिस से लगाई बच्चों की वापसी की गुहार

Giridih: एक पिता ने अपने दो बच्चों की सकुशल वापसी के लिए पुलिस से गुहार लगायी है. तीसरी के रहने वाले भादो मरांडी ने अगल अलग गांव के तीन लोगों पर मानव तस्करी का आरोप लगाते हुआ मामला दर्ज कराया है. मामला गिरिडीह जिले के तिसरी थाना क्षेत्र का है.

इसे भी पढ़ें : धनबाद के निरसा में चाल धंसने से 8 लोगों की मौत, कई के मलबे में दबे होने की आशंका

महिला थाना को दिए आवेदन में भादो मरांडी ने कहा है कि तीसरी के रहने वाले मनोज हांसदा, सावना सोरेन और सुनील यादव ने उनके बच्चों को काम दिलाने का प्रलोभन देकर दिल्ली ले जाने की बात कही थी. इसके लिए उनलोगों ने 26 हजार रुपये भी दिये थे. उनकी बात में आकर उसने 15 वर्षीय बेटी सुनीता मरांडी और 12 वर्षीय बेटा अरविंद मरांडी को उनके साथ भेज दिया. लेकिन अब उनका कुछ पता नहीं चल पा रहा है.

ram janam hospital
Catalyst IAS

उसने अपने आवेदन में कहा कि बीते महीने जनवरी में जब वो अपने बच्चों से फोन पर बात कर रहा था, तो दोनों काफी डरे हुए थे. वो कहां है कैसे हैं इसकी जानकारी नहीं दे पाए. इसके बाद उसने सावना सोरेन से दोनों बच्चे को वापस लाने को कहा तो वह टालमटोल करता रहा. भादो मरांडी ने ये भी बताया की कुछ दिन पहले ही सावना ने उसके भाई के साथ सिर्फ इसलिए मारपीट किया कि तीनों के खिलाफ कोई केस दर्ज न कराया जाए. अब जबकि उसके दोनो बच्चे मुश्किल में है तो वो अपने दोनो बच्चों को सकुशल वापस चाहता है.

The Royal’s
Sanjeevani
Pushpanjali
Pitambara

इसे भी पढ़ें : BUDGET 2022 : भाजपा का दावा-आत्मनिर्भर भारत बनाने की मुहिम होगी तेज

इधर,महिला थाना प्रभारी मनिता कुमारी मामले की गंभीरता को देखते हुए मामले की जांच में जुट गई है. वहीं कैलाश सत्यार्थी फाउंडेशन के सदस्य भादो के बेटा-बेटी को ढूंढने में लग गए हैं.

Related Articles

Back to top button