Crime NewsJharkhandPalamu

फोर्स के टारगेट में आए उग्रवादियों ने महिला-बच्चों को बनाया ढाल, एके 56 सहित चार हथियार और गोलियां बरामद

Palamu: पलामू-लातेहार के सीमावर्ती पांकी थाना क्षेत्र के सालमदिरी में पुलिस-सीआपीएफ के साथ गुरूवार की अहले सुबह जेजेएमपी उग्रवादियों के मुठभेड़ हुई. इस दौरान दोनों ओर से सौ-सौ राउंड गोलियां चली. बाद में पुलिस को भारी पड़ता देख उग्रवादी महिला और बच्चों को ढाल बनाकर व जंगल झाड़ का फायदा उठाकर मौके से भाग निकले.

जिले के पुलिस अधीक्षक संजीव कुमार ने बताया कि गुप्त सूचना मिली थी कि कुछ दिनों से प्रतिबंधित उग्रवादी संगठन जेजेएमपी का दस्ता जिले के पांकी के अलावा सतबरवा और लातेहार के मनिका थाना के सीमावर्ती क्षेत्रों में गतिशील है. साथ ही क्षेत्र के विकास कार्य में लगे ठिकेदारों से लेवी की वसूली के लिए बार-बार परेशान किया जा रहा था. पुख्ता सूचना मिली की कि पांकी के सालमदिरी गांव के जंगल में गणेश लोहरा उर्फ विकास जी का दस्ता देखा गया है.

एसपी ने कहा कि सूचना पर अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी, सदर के विजय शंकर उनके क्यूएटी के सदस्य, सीआरपीएफ 134 बटालियन के द्वितीय कमान अधिकारी टीएम पाइते एवं उनके क्यूएटी के साथ सालमदिरी गांव पहुंचे. इसी बीच पुलिस को देखकर उग्रवादी संगठन जेजेएमपी के दस्ता द्वारा फायरिंग शुरू कर दी गयी. जिसके जवाब में पुलिस के द्वारा आत्मरक्षार्थ गोली चलायी गयी.

इसे भी पढ़ें – अल्पसंख्यक छात्रवृत्ति घोटाले में नपे वेलफेयर सुपरवाइजर पी शंकर भगत, डीसी अबु इमरान ने सभी पावर किया जब्त, चलेगी विभागीय कार्रवाई

घेरने पर उग्रवादियों ने बच्चों को कर दिया आगे

अनुमंडल पुलिस पदाधिकारी और सीआरपीएफ के स्ट्राइकर मंडल, हरप्रीत एवं विनोद के द्वारा आगे बढ़कर उग्रवादियों को घेरने का प्रयास किया गया, लेकिन उग्रवादी बच्चों एवं महिलाओं को ढाल बनाकर वह जंगल-झांड़ी का फायदा उठाते हुए घने जंगल की ओर भाग गये. हालांकि इसके बाद क्षेत्र की घेराबंदी कर सर्च अभियान चलाया गया। इस दौरान उग्रवादियों के द्वारा प्रयोग में लाए गए समान और हथियार, वाॅकी-टाॅकी, गोली, पिठू, टेंट आदि बरामद किए गए है. मुठभेड़ में महेश जी उर्फ मनोहर उरांव उर्फ मनोहर जी, गणेश लोहरा उर्फ विकास जी एवं संजय जी उर्फ संजय पासवान एवं इनके दस्ता के अन्य 10-12 लोग शामिल थे.

क्या क्या मिला मौके से

मौके से एके-56 रायफल, .303 बोर का रायफल, पिस्टल और देशी कट्टा एक-एक बरामद किया गया. जबकि एक एयरगन, तीन मैगजीन, 65 राउंड गोलियां, दो वाॅकी-टाॅकी, 6 मोबाइल फोन, नक्सली साहित्य, डिल्डो एक, पीठू, कंबल और टेंट के सामान बरामद किए गए है.

इसे भी पढ़ें – आरोप लगा रहे पार्षदों के क्षेत्र में 4.75 करोड़ से योजनाओं का हुआ शिलान्यास, राशि भाजपा सरकार ने दी थी: मेयर

बच्चों से काम करा रहे थे उग्रवादी

एसपी संजीव कुमार ने कहा कि जेजेएमपी उग्रवादियों की मौजूदगी की सूचना जब पुलिस-सीआरपीएफ की टीम सालमदिरी गांव पहुंची तो गांव से करीब तीन सौ मीटर दूर जंगली एरिया में जेजेएमपी उग्रवादी नजर आए. उग्रवादी बच्चों से साफ-सफाई के काम करा रहे थे. मौके पर पांच-छह बच्चे उग्रवादियों के काम करते देखे गये. कुछ लड़कियां भी दिखी. एसपी ने कहा कि घटनास्थल पर खून के धब्बे भी मिले है. इससे लगता है कि मुठभेड़ के दौरान उग्रवादियों के संतरी को गोली लगी होगी. मुठभेड़ के दौरान उग्रवादी घिर गये थे और टारगेट में नजर आ रहे थे. लेकिन इसी बीच उग्रवादियों ने चाल चली और महिलाओं-बच्चों को ढाल बना लिया. बच्चों को देखकर फायरिंग बंद करनी पड़ी. इसी का फायदा लेकर उग्रवादी मौके से फरार हो गये.

इसे भी पढ़ें – 24 जिला में संचालित अस्पतालों को आधुनिक सुविधाओं से युक्त करें अधिकारी : हेमंत

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: