न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

सीट बंटवारे को लेकर 27 जनवरी को दिल्ली में हो सकती है विपक्षी दलों की बैठक

203
  • भाजपा विरोधी महागठबंधन में झारखंड की 14 लोकसभा सीटों पर 20 दावेदार

Pravin Kumar

Ranchi : बढ़ती दूरी और कई आशंकाओं के बीच झारखंड में विपक्षी दलों ने लोकसभा और विधानसभा चुनाव साथ मिलकर लड़ने का निर्णय लिया है. विपक्षी दलों का महागठबंधन कर भाजपा को राज्य और केंद्र में शिकस्त देने की बात पर सहमति बनी है. झामुमो के कार्यकारी अध्यक्ष और पूर्व मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन के आवास पर हुई 10 दलों की बैठक में झारखंड विधानसभा चुनाव के लिए हेमंत सोरेन को नेता मान लिया गया. लेकिन, महागठबंधन की बैठक में शामिल दलों की ओर से कई सीटों पर अपने-अपने दावे किये गये. लोकसभा सीटों पर दावेदारी पर खुद को दूसरे से मजबूत बताया गया. इसमें चाईबासा, खूंटी, जमशेदपुर, गोड्डा, धनबाद, चतरा, हजारीबाग, कोडरमा लोकसभा सीटें शामिल हैं. पार्टियों के दावों के अनुसार 14 लोकसभा सीटों पर 20 दावे सामने आये हैं.

क्या हुआ बैठक में

हेमंत सोरेन के आवास पर हुई बैठक में सबसे पहले वाम दल के नेता पहुंचे और सबसे पीछे कांग्रेस और आरजेडी नेता. बैठक जब शुरू हुई, तो झाविमो सुप्रीमो बाबूलाल मरांडी ने कहा कि भाजपा जैसी सांप्रदायिक ताकतें देश व प्रदेश को नुकसान पहुंचा रही हैं. सभी संवैधानिक संस्थाएं आज खत्म होने के कगार पर हैं. ऐसे में जरूरी है कि विपक्षी दल साथ मिलकर सांप्रदायिक ताकतों के खिलाफ चुनाव लड़ें. बैठक में विधानसभा और लोकसभा चुनाव हेमंत के नेतृत्व में लड़ने की बात हुई, जिस पर कांग्रेस की ओर से कहा गया कि लोकसभा में बड़ी पार्टी कांग्रेस है, इसलिए लोकसभा का चुनाव कांग्रेस के नेतृत्व में लड़ें और विधानसभा चुनाव झारखंड मुक्ति मोर्चा के नेतृत्व में लड़ने पर सहमति बनी. बैठक के दौरान हेमंत सोरेन अधिकतर मामलों पर चुप ही दिखे, वहीं वाम दल लगातार बोलते नजर आये.

बैठक में कांग्रेस की ओर से अधिक सीटों पर दावेदारी पर भी विराम लग गया है. कांग्रेस छह सीटों से अधिक पर दावेदारी न करे, ऐसी बात अन्य विपक्षी पार्टियों ने रखी. वहीं, बसपा के शिवपूजन मेहता ने गठबंधन को लेकर नेताओं से बहन मायावती से बात करने का आग्रह किया. बैठक में वाम दल की ओर से तीन सीटों पर दावेदारी करने की बात भी समाने आयी. जबकि, झारखंड विकास मोर्चा तीन सीट, झामुमो छह सीट, आरजेडी दो और कांग्रेस ने छह से अधिक सीटों पर दवा किया.

बैठक में किस लोकसभा सीट पर किस पार्टी ने किया दवा

वाम दल की ओर से कोडरमा, धनबाद, हजारीबाग पर दावा किया गया, वहीं झारखंड विकास मोर्चा की ओर से गोड्डा, कोडरमा और चतरा लोकसभा सीट पर अपनी दावेदारी मजबूत होने की बात कही गयी. झारखंड मुक्ति मोर्चा ने छह सीटों पर खुद की स्थिति मजबूत होने का दवा किया, जिनमें गिरिडीह, राजमहल, दुमका, चाईबासा, खूंटी और जमशेदपुर लोकसभा सीटें शामिल हैं. वहीं, कांग्रेस की ओर से छह से अधिक सीटों पर दवा किया गया, जिनमें चाईबासा सीट को लेकर कांग्रेस और झारखंड मुक्ति मोर्चा के बीच में पेंच फंसता नजर आया. बैठक में झारखंड मुक्ति मोर्चा की ओर से कहा गया कि चाईबासा लोकसभा सीट पर चुनाव लड़ने का दबाव पार्टी कार्यकर्ता की ओर से है. ऐसे में कांग्रेस और झामुमो के बीच मामला अटक सकता है. कांग्रेस की ओर से कहा गया कि पिछले लोकसभा चुनाव में दूसरे स्थान पर रहीं गीता कोड़ा अब कांग्रेस में हैं, इस कारण से यहां कांग्रेस की दावेदारी बनती है. आरजेडी की इच्छा दो सीटों पर चुनाव लड़ने की है, जिनमें चतरा और पलामू लोकसभा सीटें शामिल हैं. चतरा सीट पर झाविमो दावा कर रहा है. ऐसे में इस सीट को लेकर भी पेंच फंस सकता है.

किस सीट पर किस पार्टी ने खुद को कहा मजबूत

पार्टीलोकसभा सीट
झामुमोगिरिडीह, राजमहल, दुमका, चाईबासा, खूंटी और जमशेदपुर
कांग्रेसजमशेदपुर, धनबाद, खूंटी, लोहरदगा, चाईबासा और हजारीबाग
झाविमोगोड्डा, कोडरमा और चतरा
आरजेडीपलामू और चतरा
वाम दलधनबाद, हजारीबाग और कोडरमा

विधानसभा सीटों पर दावा नहीं आया सामने

विधानसभा की सीटों पर दावे समाने नहीं आये, लेकिन बैठक के अंत में सभी दलों द्वारा अपनी सीटों की दावेदारी के आधार के साथ अगली बैठक में शामिल होने पर सहमति बनी, जिसमें लोकसभा और विधानसभा दोनों की सीटों पर दावेदारी के तथ्य शमिल हों. वहीं, सूत्रों के मुताबिक महागठबंधन में शामिल दलों के बीच सीट शेयरिंग को लेकर फैसला 31 जनवरी की बैठक में फैसला लेने की बात समाने आयी है. साथ ही, सूत्रों के मुताबिक 27 जनवरी को दिल्ली में सीट बंटवारे को लेकर बैठक की संभावना जतायी जा रही है.

इसे भी पढ़ें- हममें भी कमियां हैं, स्वीकारते हैं, हम अविकसित राज्य हैं, हमें विकासशील बनना हैः मुख्यमंत्री

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: