Crime NewsJharkhandRanchi

अग्रवाल ब्रदर्स हत्याकांड के मुख्य आरोपी लोकेश चौधरी और एमके सिंह 48 दिन बाद भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर, फरार घोषित होंगे

Ranchi:  राजधानी रांची के अरगोड़ा थाना क्षेत्र के अशोक नगर रोड नंबर एक में छह मार्च की शाम हुए अग्रवाल ब्रदर्स हत्याकांड के मुख्य आरोपी अभी भी पुलिस की गिरफ्त से बाहर हैं.

लोकेश चौधरी और एमके सिंह हत्या के 48 दिन बीत जाने के बाद भी फरार हैं. दोनों आरोपियों को गिरफ्तार करने के लिए पुलिस की अलग-अलग टीम ने कई संभावित जगह पर छापेमारी की.

लेकिन पुलिस को अबतक लोकेश चौधरी और एमके सिंह को गिरफ्तार करने में सफलता नहीं मिली है.

इसे भी पढ़ेंः कांग्रेस के करोड़पति उम्मीदवार कीर्ति आजाद की संपत्ति में हुआ तीन गुना इजाफा

दोनों को फरार घोषित करने की तैयारी कर रही है पुलिस

अग्रवाल ब्रदर्स हत्याकांड के मुख्य आरोपी लोकेश चौधरी और एमके सिंह को स्थाई रूप से फरार घोषित करने के लिए रांची पुलिस की ओर से तैयारी की जा रही है.

इस मामले में पुलिस की और न्यायालय में जल्द आवेदन दिया जायेगा. आवेदन के जरिये न्यायलय से आग्रह किया जायेगा कि दोनों आरोपियों के खिलाफ रेड वारंट जारी किया जाये.

इसे भी पढ़ेंः श्रीलंकाः तीन चर्च व होटलों में धमाका, मरने वालों की संख्या158 पहुंची, 400 से ज्यादा लोग घायल, भारतीय नागरिकों के लिए हेल्पलाइन जारी

कुर्की जब्ती के बाद भी नहीं किया सरेंडर

अग्रवाल ब्रदर्स हत्याकांड में पुलिस लोकेश के दोनों बॉडीगार्ड्स धर्मेंद्र तिवारी, सुनील कुमार और ड्राइवर शंकर को गिरफ्तार कर पहले ही जेल भेज चुकी है.

धर्मेंद्र तिवारी और सुनील को रिमांड पर लेकर पूछताछ भी की गयी थी. पूछताछ के दौरान दोनों ने हत्याकांड को लेकर कई अहम जानकारियां पुलिस को दी.

गिरफ्तारी नहीं होने के बाद रांची पुलिस ने दोनों आरोपियों के घर पर इश्तेहार चिपकाकर सरेंडर करने का आदेश दिया. लेकिन दोनों ने सरेंडर नहीं किया, जिसके बाद दोनों के घरों की कुर्की की गयी.

इसके बावजूद दोनों ने अबतक न तो कोर्ट में सरेंडर किया और न ही पुलिस के सामने.

राजनीतिक पहुंच का उठा रहे हैं फायदा

मिली जानकारी के अनुसार लोकेश चौधरी और एमके सिंह बिहार में ही कहीं छिप कर रह रहा है.

बताया जा रहा है कि लोकेश चौधरी की बिहार के राजनीतिक गलियारे में अच्छी पकड़ होने के चलते राजनीतिक पहुंच का फायदा उठा रहा है. इस वजह से पुलिस को लोकेश चौधरी और एमके सिंह को गिरफ्तार करने में सफलता हाथ नहीं लग रही है.

हालांकि इस मामले में पुलिस हमेशा से कहते आ रही है कि लोकेश चौधरी और एमके सिंह को जल्द ही गिरफ्तार कर लिया जायेगा. लेकिन कब गिरफ्तारी होगी, इसका जवाब किसी के पास नहीं.

टाइम लाइनः जानिये कब क्या हुआ

  • 6 मार्च 2019 को अशोक नगर रोड नंबर एक में एक निजी न्यूज कार्यालय में शाम के समय अग्रवाल ब्रदर्स की गोली मारकर हत्या.
  • 7 मार्च 2019 को अशोक नगर रोड नंबर एक स्थित निजी न्यूज चैनल कार्यालय से अग्रवाल ब्रदर्स का शव बरामद.
  • 11 मार्च 2019 को लोकेश चौधरी के ड्राइवर शंकर को पुलिस ने पटना से किया गिरफ्तार.
  • 14 मार्च 2019 को लोकेश चौधरी के बॉडीगार्ड को पुलिस ने बोकारो थर्मल से किया गिरफ्तार.
  • 19 मार्च 2019 को एमके सिंह के बॉडीगार्ड धर्मेंद्र तिवारी ने किया कोर्ट में सरेंडर.
  • 24 मार्च 2019 अग्रवाल ब्रदर्स हत्याकांड में शामिल दो आरोपी सुनील सिंह और धर्मेंद्र तिवारी को रांची पुलिस ने 4 दिन की रिमांड पर लिया.
  • 25 मार्च 2019 को लोकेश चौधरी और एमके सिंह के घर पुलिस ने चिपकाया इश्तेहार.
  • 7 अप्रैल 2019 को लोकेश चौधरी और एमके सिंह के घर पुलिस ने की कुर्की जब्ती.

इसे भी पढ़ेंः कई जगहों पर नक्सलियों की पोस्टरबाजी : लोकसभा चुनाव के बहिष्‍कार का किया आह्वान

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: