न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

27 जुलाई को सदी का सबसे लंबा चंद्र ग्रहण, देश भर में दिखाई देगा

460

NewDelhi : एमपी बिरला इंस्टीट्यूट ऑफ फंडामेंटल रिसर्च, एमपी बिरला प्लेनेटेरियम के अनुसार सदी का सबसे लंबा चंद्र ग्रहण 27 जुलाई को देश भर में दिखाई देगा. बताया कि चंद्रमा थोड़ा सा लाल रंग का होगा. इस खगोलीय घटना को ब्लड मून कहा गया है. एमपी बिरला प्लेनेटेरियम के निदेशक देवीप्रसाद दुआरी ने इस संबंध में कहा कि भारत के लोग खुशकिस्मत हैं कि आंशिक और पूर्ण दोनों चंद्र ग्रहण देश के सभी हिस्सों से पूरी तरह से दिखाई देगा. जानकारी दी कि भारत के अलावा चंद्र ग्रहण दक्षिण अमेरिका, अफ्रीका, पश्चिम एशिया और मध्य एशिया के कुछ हिस्सों में भी दिखाई देगा.

पूर्ण चंद्र ग्रहण एक घंटे 43 मिनट का, जबकि आंशिक ग्रहण एक घंटे से ज्यादा समय का होगा. दुआरी के अनुसार आंशिक चंद्र ग्रहण 27 जुलाई को भारतीय समयानुसार रात 11 बजकर 54 मिनट पर शुरू होगा और पूर्ण चंद्र ग्रहण 28 जुलाई को तड़के एक बजे शुरू होगा. कहा कि चंद्रमा 28 जुलाई को सुबह एक बज कर 52 मिनट से दो बज कर 43 मिनट तक सबसे ज्यादा अंधकार में रहेगा.  इस अवधि के बाद 28 जुलाई को सुबह तीन बज कर 49 मिनट तक आंशिक चंद्र ग्रहण रहेगा.

इसे भी पढ़ेंः ‘अफवाह’ रोकने के लिए सरकार, समाज व टेक्निकल कंपनी को एकसाथ काम करने की जरुरतः व्हाट्सऐप

चंद्र ग्रहण देखने के लिए कोई खास इंस्ट्रूमेंट की जरूरत नहीं है

27 जुलाई को पूर्ण चंद्र ग्रहण के दौरान चंद्रमा पृथ्वी की छाया के मध्य हिस्से से होकर गुजरेगा. पूर्ण चंद्र ग्रहण के दौरान चंद्रमा जब पृथ्वी की छाया से होकर गुजरता है तो वह चमकीले नारंगी रंग से लाल रंग का हो जाता है और एक दुर्लभ घटना के तहत गहरे भूरे रंग से और अधिक गहरा हो जाता है. यही कारण है कि पूर्ण चंद्र ग्रहण लगता है और उस समय इसे ब्लड मून कहा जाता है.

यह पूछे जाने पर कि क्या चंद्र ग्रहण को बिना किसी उपकरण के आंखों से देखना सुरक्षित होगा, इस पर दुआरी ने कहा कि सौर ग्रहण देखने के लिए इस्तेमाल किये जाने वाले उपकरणों की तरह चंद्र ग्रहण देखने के लिए कोई खास इंस्ट्रूमेंट की जरूरत नहीं है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं. 

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Comments are closed.

%d bloggers like this: