DhanbadJharkhand

धनबाद में विधायक के रिश्तेदार के संरक्षण में अब भी चल रहा है कोयले का अवैध कारोबार

Ranchi: पिछले माह धनबाद में अवैध कोयला कारोबार चलने की खबर सुर्खियों में रही. डीजीपी डीके पांडेय तक को इस बारे में बोलना पड़ा. धनबाद के एसएसपी को फटकार भी लगायी और अवैध कोयला कारोबार को बंद करने का निर्देश भी दिया. ताजा सूचना यह है कि धनबाद जिले के अन्य हिस्सों में तो कोयला चोरी रुक गया है, लेकिन बरवाअड्डा में अब भी पहले की तरह जारी है. कोयले के इस अवैध कारोबार को एक विधायक का संरक्षण है. विनय नामक विधायक का रिश्तेदार अवैध कारोबार को संचालित कर रहा है.

इसे भी पढ़ेंः ‘सरकार की कारगुजारियां उजागार करने वाले को देशद्रोही का तमगा देना बंद करें रघुवर सरकार’

कोयले को बनारस, डेहरी या अन्य बाजारों तक पहुंचा दिया जाता है

जानकारी के मुताबिक धनबाद के तेतुलमारी, कुसुंडा, धनसार, निचितपुर, बांसजोड़ा इलाके से चोरी का कोयला साइकिल से बरवाअड़्डा लाया जाता है. साइकिल से कोयले को बरवाअड्डा स्थित एक सॉफ्ट कोक फैक्टरी में जमा किया जाता है. फिर उसे स्थानीय ईंट भट्ठा में बेच दिया जाता है. या फिर बनारस, डेहरी या अन्य बाजारों तक पहुंचा दिया जाता है. सूत्रों के मुताबिक इस अवैध कारोबार में विधायक के रिश्तेदार की संलिप्तता के कारण स्थानीय पुलिस चुप ही रहती है. पुलिस के अफसरों तक अवैध कमाई का कुछ हिस्सा भी पहुंचा दिया जाता है.

इसे भी पढ़ेंः 55.51 करोड़ खर्च करने के बाद भी कई पंचायत भवनों का निर्माण नहीं, तो कुछ पड़े हैं अधूरे

बरवाअड्डा के अवैध कोयला कारोबार को सत्ताधारी दल का संरक्षण

उल्लेखनीय है कि धनबाद कोयला को लेकर प्रसिद्ध है. पिछले माह यह खबर आयी थी कि धनबाद के हर इलाके में कोयले का अवैध कारोबार चल रहा है. निरसा इलाके के कुसमकनाली इलाके में दिवाकर मंडल नामक व्यक्ति का भट्ठा, शामपुर में मुन्ना खां, फोटका में रामाशंकर सिंह, खोखरा पहाड़ी में मां काली इंटर प्राइजेज इंट भट्ठा में अवैध कारोबार चल रहा था.

इसी तरह गोविंदपुर थाना क्षेत्र, कालूबथान ओपी, पंचेत ओपी, बलियापुर, कतरास  व सिंदरी इलाके में भी अवैध कोयला कारोबार चलने की खबर मीडिया में आयी थी. तब भी बरवाअड्डा में चल रहे अवैध कोयला कारोबार की खबर मीडिया में नहीं आयी थी. क्योंकि बरवाअड्डा में जो व्यक्ति अवैध कोयला कारोबार कर रहा है, उसे सत्ताधारी दल का तो संरक्षण है ही, कुछ पुलिस अफसरों और मीडिया के बीच भी अच्छी पैठ है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: