न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें
bharat_electronics

जिस होटल हॉट लिप्स में अक्सर जुटते थे टीपीसी के लोग, पुलिस रहती थी चुप, NIA ने वहीं से पकड़ा उग्रवादी विनोद गंझू को

806

Ranchi: Ranchi: एनआईए की टीम ने रांची के कांके रोड स्तिथ रेस्तरां से टीपीसी उग्रवादी विनोद गंझू को गिरफ्तार किया है. शुक्रवार की रात करीब साढ़े 11 बजे ये गिरफ्तारी हुई. इस दौरान विनोद गंझू के अलावा भी पुलिस ने आठ लोगों को पकड़ा, जिन्हें बाद में छोड़ दिया गया है. बताया जा रहा है कि उग्रवादी विनोद गंझू अन्य लोगों के साथ होटल में खाना खाने और पैसा उगाही करने आया था. वर्ष 2016 में टंडवा थाना में दर्ज एक मामले में एनआइए को उसकी तालाश थी.

इसे भी पढ़ेंः बर्थ डे पार्टी में शामिल होने टीपीसी के छह बड़े उग्रवादी रांची पहुंचे

हॉट लिप्स होटल में अक्सर जुटते थे टीपीसी के उग्रवादी

टीपीसी के उग्रवादी कांके रोड के हॉट लिप्स होटल में आकर बैठते थे. खाना खाते थे. बैठकें करते थे और लेवी की वसूली करते रहे थे. यह कोई नयी बात नहीं है. टीपीसी के उग्रवादी पिछले कई सालों से होटल हॉट लिप्स को कुछ घंटों के लिए अड्डे की तरह इस्तेमाल करते थे. लेकिन कभी भी रांची पुलिस या चतरा पुलिस ने उन्हें गिरफ्तार नहीं किया. ऐसा नहीं है कि चतरा औऱ रांची पुलिस को इस बात की जानकारी नहीं थी. न्यूज विंग ने 25 अगस्त 2017  को इससे संबंधित खबर प्रकाशित की थी. इससे पहले भी हिंदी दैनिक प्रभात खबर में इस सिलसिले में खबरें छपी थी. लेकिन दोनों जिलों की पुलिस और खुफिया एजेंसियां हमेशा चुप ही रहीं. अब एनआइए ने कांके रोड के उसी होटल से बिंदु गंझू को गिरफ्तार करके उन खबरों की पुष्टि कर दी है. एसे में जरुरत है रांची और चतरा जिला की पुलिस अफसरों की भी जांच हो, जिन्होंने सूचना रहने के बाद भी उग्रवादियों को पकड़ने  में क्यों दिलचस्पी नहीं दिखायी.

इसे भी पढ़ेंःघाटे में चल रही IDBI में 13 हजार करोड़ निवेश करेगी LIC

बता दें कि विनोद गंझू सीसीएल के मगध और आम्रपाली परियोजना से लंबे समय से लेवी वसूल रहा था. हालांकि, इस काम में सीसीएल के कुछ अधिकारियों की भूमिका भी संदिग्ध पायी गई है. वही एनआईए लेवी वसूलने की जांच कर रही है. 2016 में  बिंदु गंझू के पास से एक करोड़ नकद मिले थे. और इस मामले में वह जेल भी गया था. हालांकि, पुलिस जांच के दौरान इस बात को प्रमाणित नहीं कर पाई कि पैसे बिंदु के हैं. जिसके कारण उसे जमानत मिल गई थी. बिंदु के खिलाफ दर्ज चार मामलों में एनआई जांच कराने की अनुशंसा की गई थी. इसके बाद एनआईए ने यह कार्रवाई की है. वही बिंदु गंझू की संपत्ति जब्त करने के लिए चतरा स्थित उसके घर पर एनआइए ने पूर्व में नोटिस भी भेजा था.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

eidbanner

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

dav_add
You might also like
addionm
%d bloggers like this: