न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

राज्यपाल ने पढ़ाया स्वच्छता का पाठ, कहा- आचरण में सुधार लाएं लोग

नागा बाबा खटाल के पास लगाया झाड़ू, सब्जी विक्रेताओं को भी समझाया

169

Ranchi: स्वच्छता ही सेवा कार्यक्रम के तहत राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू ने वार्ड 20 के अंतर्गत पड़ने वाले नागा बाबा खटाल में सोमवार को स्वच्छता अभियान चलाया. इस दौरान उन्होंने वहां के सब्जी विक्रेताओं से अपने आसपास के इलाकों में साफ-सफाई रखने की अपील की. उनके बीच निगम की तरफ से कपड़े के बने थैले का भी वितरण किया और सब्जी खरीदी. राज्यपाल ने इस दौरान जहां लोगों को स्वच्छता का संदेश दिया तो वहीं राजभवन के बाहर फैली गंदगी पर अपनी पीड़ा भी जाहिर की.

इसे भी पढ़ेंःIL & FS संकटः झारखंड में 35 सौ करोड़ की योजनाओं पर मंडरा रहे हैं संकट के बादल

उन्होंने कहा कि केवल निगम की तरफ से कार्रवाई करना समाधान नहीं है. जरूरी है कि सभी लोग अपने आचरण में सुधार लाए. इस दौरान उनके साथ मेयर आशा लकड़ा, स्थानीय पार्षद सुनील कुमार यादव उपस्थित थे. मालूम हो कि पीएम मोदी के आह्वान पर देशभर में इन दिनों चल रहे स्वच्छता ही सेवा कार्यक्रम चल रहा है. इसी के तहत राज्यपाल साफ-सफाई से जुड़ी हैं. कुछ दिन पहले ही लालपुर स्थित धोबीघाट में आयोजित स्वच्छता कार्यक्रम में शामिल होकर उन्होंने स्वयं झाड़ू लगाया था.

लोगों को पढ़ाया स्वच्छता का पाठ

नागा बाबा खटाल के पास राज्यपाल ने खरीदी सब्जी

नागाबाबा खटाल में आयोजित स्वच्छता कार्यक्रम में राज्यपाल ने मेयर और स्थानीय पार्षद के साथ न केवल झाड़ू लगाकर सफाई की. बल्कि गली में पड़े कचरे को भी उठाकर डस्टबिन में डाला. इस अवसर पर राज्यपाल ने यहां स्थित सब्जी मार्केट पहुंच लोगों से बात की. और उन्हें स्वच्छता का पाठ पढ़ाया. निगम की तरफ से सब्जी विक्रेताओं को कपड़े का थैला दिया गया. सबसे बड़ी बात ये रही कि खुद राज्यपाल भी एक महिला सब्जी विक्रेता से सब्जी खरीदते नजर आईं. सब्जी विक्रेता ने राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू का सम्मान करते हुए पैसे लेने से मना कर दिया, हालांकि राज्यपाल द्रौपदी मुर्मू की जिद के आगे उसने बाद में पैसे रख लिए.

इसे भी पढ़ेंःअब माननीयों (MLA) की नहीं चलेगी धौंस, सरकारी अफसरों और कर्मियों को नहीं धमका सकेंगे

स्वच्छता संकल्प के लिए आगे आए लोग

palamu_12

पीएम के स्वच्छ भारत मिशन के संकल्प को दोहराते हुए कहा कि हर हाल में 2 अक्टूबर 2019 तक पूरे राज्य को स्वच्छ बनाना है. 15 सितंबर से शुरू हुआ स्वच्छता ही सेवा कार्यक्रम मंगलवार 2 अक्टूबर तक पूरे राज्यभर में चलाया जायेगा. इसके तहत गली-मोहल्लों से लेकर शहरी क्षेत्रों में साफ-सफाई की विशेष व्यवस्था की गई है. ऐसे में शहर के हर नागरिक का दायित्व बनता है कि हम अपने आस-पड़ोस को साफ रखें. जिससे बीमारी से बचाव हो सके. सिर्फ प्रशासनिक तंत्र के सहारे पूरा नहीं होगा स्वच्छ झारखंड, बदले मानसिकता

गंदगी देख निराश हुईं राज्यपाल

खटाल स्थित राजभवन के बाहर फैली गंदगी से राज्यपाल काफी दुखी नजर आई. उन्होंने कहा कि यह सही है कि स्वच्छ झारखंड की परिकल्पना सिर्फ प्रशासनिक तंत्र के सहारे पूरा नहीं की जा सकती है. सरकारी सुविधाओं पर आश्रित रहने की बजाय लोगों को खुद साफ -फाई के लिए आगे आना होगा, उन्हें अपनी सोच और अपनी मानसिकता बदलनी होगी. स्वच्छता को अपनी आदतों में शामिल करना होगा. लेकिन इसके साथ-साथ जरूरी है कि लोगों के बीच सख्ती भी हो. सब्जी विक्रेताओं से खटाल इलाके को स्वच्छ रखने की अपील करते हुए कहा कि जब भी हम किसी धार्मिक स्थल पर जाते है. तो वहां जाने से पहले खुद को साफ-सुथरा करते है. जरूरी है कि इसी पहल पर आगे आएं.

इसे भी पढ़ेंःपाकुड़ः माफिया पर टास्कफोर्स की सख्ती, लेकिन सहायक खनन पदाधिकारी को कार्रवाई से परहेज

प्रधानमंत्री के स्वच्छता ही सेवा कार्यक्रम की बात करते हुए कहा कि खुद को और देश को स्वच्छ बनाना है. गत वर्ष 2 अक्टूबर 2019 को महात्मा गांधी के 150वां जंयती है. इस समय तक देश को स्वच्छ बनाना है. इसके लिए पीएम ने वर्ष 2014 को स्वच्छ भारत मिशन योजना को शुरू की थी. उन्होंने मिशन की सफलता के लिए लोगों से बढ़-चढ़ कर हिस्सा लेने की अपील की.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: