JharkhandLead NewsRanchi

“आपकी सरकार आयेगी आपके द्वार” कार्यक्रम चलायेगी सरकार

नियुक्ति नियमावली की अड़चनों को दूर करें : मुख्यमंत्री

Ranchi : मुख्यमंत्री हेमंत सोरेन ने बुधवार को राज्य स्थापना दिवस की तैयारियों की समीक्षा की. बैठक में मौजूद पदाधिकारियों से उन्होंने नियुक्ति नियमावली में आ रही अड़चनों को जल्द से जल्द दूर करने को कहा है. ताकि नियुक्ति प्रक्रिया की ओर बढ़ा जा सके. मुख्यमंत्री ने कहा कि झारखंड स्थापना दिवस समारोह अपने आप में महत्वपूर्ण स्थान रखता है. अब राज्य में ‘आपकी सरकार आयेगी आपके द्वार’ कार्यक्रम का आयोजन होगा.

इसके तहत स्थापना दिवस के बाद यानी 16 नवंबर से ग्राम पंचायत स्तर पर शिविर का आयोजन सभी विभाग करें. शिविर के माध्यम से लोगों के लंबित मामलों का निष्पादन करें. साथ ही नयी योजनाओं से उन्हें जोड़ें.

advt

इसे भी पढ़ें:क्रूज ड्रग केस: आर्यन खान को आज भी नहीं मिली जमानत

संक्रमणकाल से हम बाहर आ रहे हैं

मुख्यमंत्री ने कहा कि राज्यवासियों को विभिन्न योजनाओं से लाभान्वित करना, इसको पूरा करने के लिए हमने सरकार आपके द्वार कार्यक्रम की योजना बनायी थी. लेकिन संक्रमण की वजह से यह संभव नहीं हो सका. कोरोना संक्रमण काल से हम धीरे धीरे बाहर आ रहे हैं. अब हम सामान्य जीवन की ओर बढ़ रहे हैं.

ग्रामीण सड़कों के सुदृढ़ीकरण और पुस्तकालय पर ध्यान

मुख्यमंत्री ने अधिकारियों को निर्देश दिया कि निर्धारित की गयी अवधि के दौरान ग्रामीण क्षेत्र की खराब सड़कों के जीर्णोद्धार और निर्माण के लिए चिन्हित कर प्राथमिकता दें. ऐसी सभी सड़कों को चिन्हित कर उसका निर्माण करें.

ग्रामीण आबादी को आवागमन में किसी तरह की परेशानी का सामना न करना पड़े. मुख्यमंत्री ने जिला स्तर पर पुस्तकालय स्थापित करने का निर्देश दिया. ताकि उच्च और स्कूली शिक्षा ग्रहण कर रहे बच्चों को पढ़ाई का माहौल मिल सके.

इसे भी पढ़ें:नीरज चोपड़ा समेत 11 खिलाड़ियों को मिलेगा खेल रत्न पुरस्कार, 35 खिलाड़ियों को दिया जायेगा अर्जुन पुरस्कार

बैठक में ये अधिकारी रहे मौजूद

इस अवसर पर मुख्य सचिव सुखदेव सिंह, अपर मुख्य सचिव केके खण्डेलवाल, पुलिस महानिदेशक नीरज कुमार, मुख्यमंत्री के प्रधान सचिव राजीव अरुण एक्का, मुख्यमंत्री के सचिव विनय कुमार चौबे, विभिन्न विभागों के सचिव, उपायुक्त रांची, वरीय आरक्षी अधीक्षक रांची एवं अन्य उपस्थित थे.

इसे भी पढ़ें:कोरोना संकट में प्राइवेट अस्पतालों ने कमाये 7000 करोड़, कांग्रेस ने मांगा आय-व्यय का ब्योरा

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: