न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

अयोध्या में लग रहा ‘रामभक्तों’ का जमावड़ा, डर का माहौल, राशन जमा कर रहे लोग

वीएचपी की धर्मसभा, शिवसैनिकों का भी अयोध्या कूच

744

Ayodhya: अयोध्या एक बार फिर से सुर्खियों में है. सुप्रीम कोर्ट ने अयोध्या विवाद की सुनवाई अगले साल जनवरी तक टालने का फैसला किया है. उसके बाद से इस मामले में बयानबाजी और हिंदू संगठनों द्वारा सभाओं का दौर जारी है. विश्व हिंदू परिषद ने रविवार को यहां धर्मसभा के आयोजन का ऐलान किया है. कई जगहों से लोग वहां जमा रहे हैं. महाराष्ट्र से शिवसैनिक भी कूच कर चुके हैं. ट्रेनों और बसों में भर-भर कर लोगों के अयोध्या पहुंचने की खबर है. इस कारण यहां के लोग किसी अनहोनी की आशंका से सहमे हुए हैं. लोग डर के कारण राशन जमा कर रहे हैं.

शिवाजी के जन्मस्थल की मिट्टी ले अयोध्या पहुंचेंगे उद्धव

शिवसेना चीफ उद्धव ठाकरे भी 24 नवंबर को अयोध्या पहुंचनेवाले हैं. यहां वह संतों से मिलेंगे. वीएचपी की धर्मसभा में दो लाख लोगों के पहुंचने का अनुमान है. उद्धव ने गुरुवार को छत्रपति शिवाजी महाराज की जन्मस्थली शिवनेरी किले में पूजा-पाठ कर वहां की मिट्टी कलश में भरी. इस अवसर पर ठाकरे ने कह कि वह यह कलश लेकर अयोध्या जाएंगे. गौरतलब है कि शनिवार को ठाकरे कलश लेकर मुंबई से आयोध्या के लिए रवाना होंगे. मिट्टी के उस कलश को ठाकरे राम जन्मभूमि स्थल के महंत को सौंपेंगे. इसके साथ ही साधु-संतों के साथ इस मामले पर बैठक भी करेंगे. अयोध्या में उद्धव ठाकरे रामलला के दर्शन करने के साथ ही सरयू तट पर पूजा करेंगे. उन्होंने कहा कि लोकसभा चुनाव के पहले राम मंदिर के निर्माण का रास्ता साफ हो जाना चाहिए. ठाकरे के अयोध्या पहुंचने से पहले ही बड़ी संख्या शिवसैनिक वहां पहुंच गए हैं और उनके स्वागत की तैयारी चल रही है. गुरुवार को एक विशेष ट्रेन से शिवसैनिकों का जत्था अयोध्या के लिए रवाना हो गया.

भारी संख्या में पुलिस बल की तैनाती

धर्मसभा के आयोजन को देखते हुए उत्तर प्रदेश पुलिस ने सुरक्षा के पुख्ता बंदोबस्त किये हैं. इसके लिए एक एडीजीपी, एक डीआइजी, तीन एसएसपी, दस एएसएसपी, 160 इंस्पेक्टर, 700 कांस्टेबल, 42 कंपनी पीएसी, पांच कंपनी रैफ, एटीएस कमांडो की तैनाती अयोध्या में की गयी है. उत्तर प्रदेश पुलिस की तरफ से कहा गया है क सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम किये गये हैं. कानून-व्यवस्था बनाये रखने और इलाके पर नजर रखने के लिए ड्रोन कैमरे भी लगाये जा रहे हैं.

परिसर के आसपास कड़ी सुरक्षा

पूरे शहर में सीआरपीएफ और पीएसी के साथ-साथ यूपी पुलिस की भारी तैनाती के बीच उच्च सूत्रों ने बताया कि उन्हें यह स्पष्ट आदेश मिला है कि विवादित स्थल पर मौजूदा व्यवस्था से कोई छेड़छाड़ नहीं होनी चाहिए. हालांकि, अधिकारियों ने सुरक्षा के मद्देनजर संबंधित विस्तृत जानकारी देने से इनकार कर दिया, लेकिन सूत्रों का कहना है कि राम जन्मभूमि के अंदर और बाहर अतिरिक्त सुरक्षा बलों के तैनाती की गई है. फैजाबाद डिविजनल कमिश्नर मनोज मिश्रा ने कहा कि परिसर के पास सिर्फ उन्हें ही जाने की अनुमति है जो दर्शन के मकसद से वहां जाना चाहते हैं.

धारा 144 लागू

अयोध्या और फैजाबाद में धारा 144 लागू कर दी गई है, लेकिन गुरुवार को वीएचपी को रोड शो करने से रोका नहीं जा सका. इस रोड शो का नेतृत्व बजरंग दल के कार्यकर्ताओं ने किया. वे रामलला हम आएंगे, मंदिर वहीं बनाएंगे का नारा लगा रहे थे. वीएचपी लीडर भोलेंद्र सिंह ने कहा, ‘हम राम जन्मभूमि की लड़ाई लड़ने जा रहे हैं.’ वीएचपी का रोड शो फैजाबाद के मुस्लिम बहुल इलाकों से होकर भी गुजरा, हालांकि इस दौरान वहां सुरक्षा के कड़े इंतजाम थे.

सभा के विरोध का फैसला

अयोध्या के व्यापारियों ने वीएसपी की इस सभा का विरोध करने का फैसला किया है. दरअसल, 6 दिसंबर 1992 जैसी घटना की आशंका में अयोध्या के व्यापारियों ने वीएचपी के रोड शो के बहिष्कार का फैसला किया. उनकी संस्था संयुक्त व्यापार मंडल, फैजाबाद ने गुरुवार को कहा कि वह रविवार को वीएचपी की होने वाली धर्मसभा का विरोध करेगी और मुंबई से यहां आ रहे शिवसेना अध्यक्ष उद्धव ठाकरे को काला झंडा दिखाएगी.

इसे भी पढ़ें – 17 मिनट में गिरा दी थी बाबरी मस्जिद, राम मंदिर निर्माण के लिए अध्यादेश कब आएगा : राउत

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.

%d bloggers like this: