Corona_UpdatesJharkhandRanchi

Ranchi में कोरोना का भय इतना ज्यादा कि मदद को नहीं बढ़ रहे हाथ, घंटों बेहोश पड़े रहे बुजुर्ग

लोअर वर्धमान कंपाउंड के शिवाजी लेन गली की घटना

Ranchi : शहर की हालत इन दिनों कुछ ऐसी हो गई है कि किसी की मुसीबत में कोई मदद करने के लिए सामने तक नहीं आ रहा सड़क पर कोई बेहोश पड़ा नजर आ रहा है, तो कहीं लाश नजर आ रही कोरोना के डर से किसी को पानी देने वाला भी दूर-दूर तक दिखाई नहीं दे रहा. सड़क किनारे कोई बेहोश होकर गिर जाए तो उसको पानी देने के बजाय लोग दौड़ कर भागते नजर आ रहे हैं.
शुक्रवार को लोअर वर्धमान कंपाउंड के शिवाजी लेन गली में इस तरह का दृश्य नजर आया.

वहीं एक बुजुर्ग व्यक्ति घंटों बेहोश पड़े रहे लेकिन कोरोना संक्रमण के डर से कोई छूने तक नहीं पहुंचा. यहां तक कि किसी ने पानी तक देने की जहमत नहीं उठाई. कुछ लोगों ने लालपुर थाना की पुलिस को सूचना दी. इसके बावजूद बुजुर्ग व्यक्ति घंटों पड़े रहे ट्विटर पर एक ट्वीट किया गया, इसके बाद प्रशासन की तरफ से बेहोश को इलाज के लिए अस्पताल भेजा गया.

चार दिन पहले ऐसी थी हालात :

ram janam hospital
Catalyst IAS

केस 01

The Royal’s
Sanjeevani

रांची के पंडरा बाजार समिति के पास एक रिक्शा चालक अचानक बेसुध होकर गिर पड़ा. गिरने के बाद वह लंबे समय तक बेहोश रहा, लेकिन कोरोना के डर से उसकी मदद के लिए कोई आगे नहीं आया. करीब आधा घंटा तक पड़े रहने के बाद इसकी सूचना पुलिस को दी गई तब कहीं जाकर पुलिस ने उसे अस्पताल भेजा.

केस 02

डोरंडा बाजार के पास एक युवक अचानक गिरकर बेहोश हो गया. गिरने के बाद वह बेहोश रहा. इस दौरान उसकी मदद में कोई सामने नहीं आया बल्कि आसपास के लोगों ने कोरोना के नाम पर भागना भी शुरू कर दिया. आखिर पुलिस ने उसे उठाकर अस्पताल भेजा.

केस 03

रांची के चडरी तालाब के पास एक भिखारी खांसते खांसते मर गया. वह मंगलवार की सुबह से खांस रहा था. तेज खांसी शुरू हुई और उसकी मौत हो गई. कुछ देर बाद इसकी सूचना कोतवाली थाने की पुलिस को दी गई. पुलिस ने उसका शव उठाकर पोस्टमार्टम के लिए रिम्स भेजा.

इसे भी पढ़ें :सोसाइटी के लोगों की पहलः बैकअप में रख रहे हैं ऑक्सीजन सिलेंडर

Related Articles

Back to top button