JharkhandPalamuTOP SLIDER

आतंकियों से मुठभेड़ में जख्मी पलामू के आर्मी जवान के पिता को ले जाया गया कश्मीर, अनहोनी की आशंका से गांव में शोक की लहर

Palamu: जम्मू कश्मीर के पूंछ जिले में आतंकियों से लोहा लेते हुए पलामू जिले का भारतीय सेना का जवान धीरज यादव (उम्र 25वर्ष) के शहीद हो जाने की चर्चा है. जवान जिले के हुसैनाबाद थाना क्षेत्र के दुआरा का रहने वाला है. सूचना मिलते ही उसके गांव में शोक की लहर दौड़ गई है. परिजनों का रो-रो कर बुरा हाल है. हालांकि जवान के शहीद हो जाने की अधिकारिक पुष्टि नहीं हो पायी है. उसके पिता रामप्रवेश यादव को हवाई जहाज से कश्मीर ले जाया गया है.

बताया जाता है कि गत 14 अक्टूबर को पूंछ जिले में भारतीय सेना के जवानों के साथ आतंकियों की मुठभेड़ हुई थी. सेना के जवानों ने पलामू के धीरज यादव भी शामिल थे. कई घंटे तक चली मुठभेड़ में धीरज गंभीर रूप से जख्मी हो गए थे. उन्हें इलाज के लिए भर्ती कराया गया था. 15 अक्टूबर को उनकी मौत हो जाने की चर्चा है.

advt

हुसैनाबाद के एसडीपीओ पूज्य प्रकाश ने पत्रकारों को बताया कि इस संबंध में कोई जानकारी अबतक नहीं मिली है. पता लगाने की कोशिश की जा रही है.

बताया जाता है कि आर्मी जवान धीरज के इलाज के दौरान मौत हो जाने के बाद उसके शव को सौंपने के लिए उसके पिता को कश्मीर बुलाया गया है. धीरज के पिता दिल्ली में रहकर काम करते हैं. सूचना मिलने पर दिल्ली से ही उन्होंने शनिवार को कश्मीर के लिए फ्लाइट पकड़ी. शाम तक शहीद जवान का पार्थिव शव सौंपे जाने की संभावना है.

इसे भी पढ़ें – IPL फाइनल में एक ओवर में  मैच का रुख बदलनेवाले शार्दुल का बर्थडे MS Dhoni ने चादर बिछाकर ऐसे मनाया – देखें VIDEO

एक वर्ष पूर्व हुई थी आर्मी में नौकरी

आर्मी जवान धीरज यादव एक वर्ष पूर्व भारतीय सेना के जवान बने थे. 9 महीने की ट्रेनिंग के बाद उनकी ज्वाइनिंग हुई थी. अक्टूबर के प्रथम सप्ताह में वह छुट्टी पर घर आए थे. गत सात अक्टूबर को अचानक उनकी छुट्टी कैंसिल कर दी गयी. छुट्टी कैंसिल होते ही जवान पुनः ड्यूटी के लिए जम्मू कश्मीर निकल गए. इसी बीच उनकी शहादत की खबर सामने आयी. धीरज यादव का परिवार काफी गरीब है और अभाव के बीच किसी तरह अपना गुजर-बसर करता है. पिता दिल्ली में रहकर मजदूरी करते हैं. दो भाई हैं, जो घर पर रहते हैं. उनकी मां का नाम अंगूर देवी है. धीरज की अबतक शादी नहीं हुई थी.

इसे भी पढ़ें – पीएम आवास ग्रामीण : एक सप्ताह में प्रथम किस्त की राशि जारी करने का निर्देश

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: