GiridihJharkhand

मंदी के बीच गिरिडीह की 14 शराब दुकानों की ई-नीलामी से उत्पाद विभाग को मिला पौने 12 करोड़ का राजस्व

Giridih: कोरोना काल की आर्थिक मंदी के बीच गुरुवार को 14 शराब दुकानों की ई-नीलामी से गिरिडीह उत्पाद विभाग को पौने 12 करोड़ का राजस्व मिला. इसी कोरोना काल में एक तरफ जहां गिरिडीह वाणिज्य कर विभाग का राजस्व औधे मुंह गिरा है. वहीं दूसरी तरफ उत्पाद विभाग को महज 14 दुकानों की नीलामी से 11 करोड़ 73 लाख का राजस्व मिलना बेहद चौंकाने वाला है. जबकि जिले के 10 और दुकानों की नीलामी होना अब भी बाकी है.

Advt

बहरहाल, इतने बड़े पैमाने पर राजस्व मिलने से उत्पाद विभाग के पदाधिकारियों का उत्साह देखते ही बना. समाहरणालय सभा कक्ष में उत्पाद अधीक्षक अवधेश सिंह की अध्यक्षता में हुई ई-नीलामी में 50 से अधिक आवेदकों ने हिस्सा लिया था. शराब दुकानों की खरीदारी के लिए 50 आवेदन ऑनलाइन जमा हुए थे. गुरुवार को निर्धारित अवधि में ई-नीलामी की प्रकिया शुरू हुई. इस दौरान 12 समूहों में 14 दुकानों की बंदोबस्ती हुई.

इसे भी पढ़ें – Giridih: सरकारी जमीनों को मुक्त कराने के लिए रेस हुआ प्रशासन, तालाब की जमीन पर मिले सिर्फ मकान  

एक दुकान की बोली ही 75 लाख से शुरू हुई 

ई-नीलामी की प्रकिया से जिला मुख्यालय के एक दुकान की नीलामी की शुरुआती बोली ही 75 लाख से शुरू हुई. इसके बाद मुख्यालय के इस दुकान की बंदोबस्ती लेने के इच्छुक आवेदक ने अंतिम बोली डेढ़ करोड़ लगायी. इसके बाद आवेदक को साल 2020-21 के लिए मुख्यालय के गादीश्रीरामपुर की शराब दुकान को बंदोबस्त कर दिया गया.

इसी प्रकार जिले के सरिया के एक, पचंबा स्थित जनता जरीडीह गांव स्थित दुकान, जमुआ के तारा और चुंगलो गांव के बाद गांवा के पीहरा व मालडा गांव की शराब दुकानों की बोली शुरू हुई. इस दौरान इन दुकानों की बोली भी 60 लाख से शुरू हुई जिसमें कुछ आवेदक दो करोड़ की बोली लगाने के बाद पीछे हट गये. इसके बाद कई आवेदकों ने इन दुकानों की अंतिम बोली 11 करोड़ 73 लाख लगायी, तो दुकानों की बंदोबस्ती आवेदकों को कर दी गयी.

इसे भी पढ़ें – बिहार में वज्रपात का कहर, 83 लोगों की मौत, कई घायल

उम्मीद नहीं थी 

इधर उत्पाद अधीक्षक अवधेश सिंह ने बताया कि विभाग को इतने बड़े पैमाने पर राजस्व मिलने की उम्मीद नहीं थी. 10 और दुकानों की नीलामी की जानी है. उत्पाद विभाग से स्वीकृति मिलने के बाद बची हुई दुकानों की नीलामी की जायेगी.

बताया कि साल 2020-21 की 24 दुकानों की बंदोबस्ती में कोई आवेदक शामिल नहीं होना चाहते थे. इस दौरान विभाग ने जनवरी माह में नीलामी कराने का निर्देश दिया. लेकिन लॉकडाउन लग जाने के कारण नहीं हो पाया. वहीं अनलॉक-1 के बाद 14 दुकानों की नीलामी की स्वीकृति मिली.

इसे भी पढ़ें –फांसी लगाने से पहले युवक ने बनाया वीडियो, कहा- मालिक की प्रताड़ना से तंग आकर कर हूं आत्महत्या (देखें वीडियो))

Advt

Leave a Reply

Your email address will not be published.

Related Articles

Back to top button