JharkhandRanchiTOP SLIDER

रांची की चार सड़कों को स्मार्ट बनाने का सपना चकनाचूर, अब मरम्मत का काम शुरू

जुडको को बनानी थी स्मार्ट सड़कें, चौड़ीकरण के लिये नहीं मिली जमीन, जर्जर हुई सड़कें, पथ निर्माण को हस्तांतरित

Ranchi: स्मार्ट सड़क बनाने के लिये राजधानी की चार सड़कों को जुडको को सौंपा गया था. पर, अब जुडको ने इन सभी सड़कों को पथ निर्माण विभाग को वापस कर दिया गया है. अब पथ निर्माण विभाग खुद इन सड़कों का काम करेगा.

राजभवन से बूटी मोड़ तक बरियातू रोड की मरम्मत का काम हुआ शुरू

राजभवन से बरियातू होते हुए बूटी मोड़ तक सड़क की मरम्मत का काम शुरू कर दिया है. यह सड़क साढ़े 8 किलोमीटर लंबी है.एक करोड़ रुपये की लागत से इसकी मरम्मत होनी है. इस सड़क के निर्माण का जिम्मा दो ठेकेदारों को सौंपा गया है. दोनों को 50 -50 लाख का ठेका सौंपा गया है. दीपावली से पहले इस सड़क के गड्ढे भरवा दिए गये थे. अब इस सड़क का जीर्णोद्धार शुरू होगा.
पथ निर्माण विभाग का कहना है की छठ की वजह से जीर्णोद्धार का काम शुरू नहीं किया जा रहा था. अब छठ पर्व खत्म होने के बाद इसका काम शुरू होगा. जीर्णोद्धार के बाद पूरी सड़क चमाचम हो जायेगी.

SIP abacus

इसे भी पढ़ें :अयोध्या : राम मंदिर के लिए चार लाख गांवों के 11 करोड़ परिवार करेंगे आर्थिक सहायता, ट्रस्ट ने जारी किया दिशा-निर्देश 

MDLM
Sanjeevani

इन सड़कों को बनाना था स्मार्ट

-एयरपोर्ट से बिरसा चौक तक 3 किलोमीटर लंबी सड़क.
-बिरसा चौक से किशोरगंज होते हुए राजभवन तक साढ़े 8 किलोमीटर तक की सड़क
-राजभवन से लालपुर होते हुए कांटाटोली चौक तक 4 किलोमीटर तक की सड़क
-राजभवन से बरियातू होते हुए बूटी मोड़ तक साढ़े आठ किलोमीटर तक की सड़क

29 मीटर चौड़ी होनी थीं सड़कें, लोगों ने किया विरोध, जमीन भी नहीं मिली

राजधानी की सड़कें स्मार्ट हो सके इसके लिये सड़कों की चौड़ाई को बढ़ाया जाना था. चौड़ाई को 29- 29 मीटर तक करना था. इसके साथ ही एक मीटर डिवाइडर भी बनाना था पर लोगों के विरोध और जमीन नहीं मिलने के कारण योजना को बंद कर दिया गया. इसलिए इन सड़कों को वापस पथ निर्माण विभाग को दे दिया गया है.
राजभवन से कांटा टोली चौक तक सड़क की मरम्मत में होगी देरी
विभाग के सूत्रों का कहना है कि फंड की कमी के कारण अभी राजभवन से लालपुर होते हुए कांटा टोली तक जानेवाली सड़क के मरम्मत में देरी होगी. जानकारी हो कि ये चारों सड़कें पहले पथ निर्माण की ही थी, पर स्मार्ट सड़क बनाने के लिये जुडको को सौंपी गयी थीं.

इसे भी पढ़ें :‘दंगल’ फेम धाकड़ गर्ल जायरा वसीम ने अपने फैंस से किया ये रिक्वेस्ट

Related Articles

Back to top button