Giridih

गिरिडीह में सप्तमी पूजा के साथ खुले मां आदिशक्ति के पट,भक्तों ने किए मां के दर्शन

Giridih: शारदीय नवरात्रि के सप्तमी पूजा के साथ ही जिले के विभिन्न पूजा पंडालों के पट खुलने शुरू हो गए हैं. इसके साथ ही मां दुर्गा की आकर्षक और भव्य प्रतिमाओं के दर्शन के लिए श्रद्धालुओं का जनसैलाब उमड़ने लगा है. शहर से लेकर ग्रामीण इलाकों तक में माता के सप्तम स्वरूप माता कालरात्रि की आराधना भक्तों ने पूरे विधि विधान के साथ की. अहले सुबह से ही पूजा पंडालों और मंडपों में महिलाओं से लेकर युवाओं और युवतियों की भीड़ जुटनी शुरू हो गई थी। हाथो में पूजा की थाली लिए भक्तों की भीड़ हर पंडाल और मंडप में देखने को मिली.हर एक भक्त मां के दिव्य स्वरूप के दर्शन की अभिलाषा लिए याचक बन कर पंडाल और मंडप में दिखा और विधि विधान के साथ माता को लाल चुनरी के साथ प्रसाद का भोग अर्पण किया. फल फूल और पूजन सामग्री से मां की पूजा अर्चना कर उनका आवाहन किया. सप्तमी की तिथि सारा दिन रहने के कारण भक्तो ने सारा दिन माता की उपासना किया. इस मौके पर पूजा पंडालों में बज रहे शारदीय नवरात्रि के कई प्रसिद्ध भजन भक्तो के कानो में मिश्री घोल रहे थे. इस दौरान कई मंडप से माता कालरात्रि की भव्य पालकी भी निकाली गई. जिसमें काफी संख्या में भक्त शामिल हुए. इसके बाद सामूहिक आरती में भक्तों ने हिस्सा लिया.

इसे भी पढ़ें: Chatra : उपायुक्त ने फांसीहारी शहीद स्मारक पर दी राष्ट्रपिता महात्मा गांधी को श्रद्धांजलि

Related Articles

Back to top button