JharkhandRanchi

रांची में सभी पूजा पंडालों के पट खुले, लेकिन मां के दर्शन नहीं कर सके आम श्रद्धालु

  • COVID-19 को लेकर जारी गाइडलाइन में आम लोगों को पंडाल में जाने की नहीं है इजाजत

Ranchi : शुक्रवार को महासप्तमी के पूजन के साथ राजधानी में दुर्गापूजा धूमधाम से मनायी जा रही है. महासप्तमी की पूजा के बाद शहर के सभी पंडालों के पट खोल दिये गये हैं. कोरोना संक्रमण को देखते हुए जिला प्रशासन ने जो दिशा-निर्देश जारी किये हैं, उनका इन पंडालों में पालन होता दिख रहा है. कहीं भी पंडाल के अंदर 15 से अधिक लोग नहीं दिखे. पुजारी के साथ पंडाल से जुड़े कुछ लोग ही अंदर खड़े रहे. आम भक्तों के पंडाल के अंदर जाने पर पूरी तरह से रोक है.

Jharkhand Rai

शनिवार को सुबह 11:24 से 11:48 बजे तक सभी पंडालों में होगा संधि बलिदान

शनिवार को महाअष्टमी की पूजा के साथ सभी पंडालों में संधि बलिदान किया जायेगा. सुबह 6:15 बजे से पूजा आरंभ होगी. 7:10 बजे से चंडीपाठ होगा. उसके बाद नौ बजे भोग लगेगा. उसके बाद महाबलि की पूजा की जायेगी. बलि का समय 11:24 बजे से 11:48 मिनट तक निर्धारित है.

सिर्फ आयोजन समिति के लोगों को ही पंडालों के अंदर जाने की इजाजत

बता दें कि कोविड-19 की गाइडलाइंस के अनुसार किसी भी दुर्गापूजा पंडाल में किसी भी सूरत में आमजन के लिए एंट्री नहीं होनी है. केवल आयोजन समिति के सदस्य ही पूजा पंडाल में रहेंगे. पूजा पंडाल में अब आयोजन समिति के सात सदस्यों की जगह 15 सदस्य रह सकते हैं. यह सभी सदस्य संबंधित पूजा समिति के सदस्य या वॉलंटियर होंगे, जो पंडाल में होनेवाली पूजन व्यवस्था में शामिल होंगे. बाहरी श्रद्धालु को दुर्गापूजा पंडाल आने की अनुमति नहीं दी गयी है.

Samford

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: