Corona_UpdatesJharkhandRanchi

DMO ने नहीं किया योगदान. डीसी ने जारी किया शोकॉज

कोविड केअर हॉस्पिटल, UCHC रिसलदारबाबा डोरंडा में प्रतिनियुक्ति पर थे

Ranchi: कोविड-19 के बढ़ते संक्रमण के कारण कोविड संक्रमित मरीजों की संख्या में लगातार बढ़ रही है. कोरोना संक्रमण की रोकथाम के लिए उपायुक्त रांची छवि रंजन द्वारा अनवरत प्रयास किए जा रहे हैं. उपायुक्त रांची छविरंजन के नेतृत्व में कोरोना के संक्रमण चेन को तोड़ने के लिए एक ओर जहां रांची जिला प्रशासन द्वारा “स्वास्थ्य सुरक्षा सप्ताह” मनाया जा रहा है.

वहीं, दूसरी ओर संक्रमित मरीजों के बेहतर इलाज हेतु नित नए कोविड केअर हॉस्पिटल तैयार किए जा रहे हैं और अस्पतालो में बेड की संख्या भी बढ़ायी जा रही है. परन्तु कई ऐसे चिकित्सक और पदाधिकारी हैं जिनकी ड्यूटी इन कोविड केअर अस्पतालों में लगाई तो जा रही है, लेकिन वह अपने प्रतिनियुक्ति कार्यस्थल से अनुपस्थित पाए जा रहे हैं. ऐसे पदाधिकारी और चिकित्सक सेवा संहिता के नियमों का घोर उल्लंघन तो कर ही रहे हैं, साथ ही कोरोनाकाल में मानव जीवन के रक्षार्थ अपने कार्य एवं दायित्व के निर्वहन से भी मुंह मोड़ ले रहे हैं, जो बेहद शर्मनाक है.

advt

डीएमओ अपने ड्यूटी से हैं गायब,सम्पर्क भी नहीं हो पा रहाः

रांची जिला के जिला खनन पदाधिकारी सत्यजीत कुमार की ड्यूटी कोविड केअर हॉस्पिटल, शहरी सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र, रिसलदार बाबा, डोरंडा में इनसिडेंट कमांडर के रूप में लगाई गई है. परन्तु वह अपने फर्ज को पूरा नहीं कर रहे हैं और लगातार अनुपस्थित रह रहे हैं. उनके मोबाइल नंबर पर सम्पर्क भी नहीं हो पा रहा है. यह कर्तव्य के प्रति घोर लापरवाही को दर्शाता है.

इसे भी पढ़ें:राहतः RIMS के ओंकोलॉजी विभाग में क्रिटिकल मरीजों के लिए बेड लगाने का काम शुरू, 73 बेड ऑक्सीजन सपोर्ट वाले होंगे

24 घंटे के भीतर जवाब मांगा

इस बाबत उपायुक्त छवि रंजन ने डीएमओ को 24 घण्टे के अंदर स्पष्टीकरण समर्पित करने का आदेश जारी किया है. संतोषजनक उत्तर आने तक वेतन स्थगित किया गया है. साथ ही साथ अगर उनका उत्तर असंतोषजनक पाया जाता है तो उनके ऊपर आपदा प्रबंधन अधिनियम (डी एम एक्ट) 2005 की धारा 56 तथा दण्ड प्रक्रिया संहिता (सीआरपीसी) की सुसंगत धाराओं के तहत होगी कठोर कार्रवाई की जाएगी.

सबका सहयोग अनिवार्य

उपायुक्त छवि रंजन ने कहा है कि कोरोना जैसे वैश्विक महामारी से निपटने के लिए सभी का सहयोग अनिवार्य है. सभी पदाधिकारी, चिकित्सक, स्वास्थ्यकर्मी, पुलिसकर्मी अपने- अपने कार्यों एवं दायित्वों का सफलतापूर्वक निर्वहन करेंगे तभी इस आपदा से हम मुकाबला करने में सक्षम हो पाएंगे. कोरोना पैनडेमिक की रोकथाम हम सबकी जिम्मेदारी है.

इसे भी पढ़ेःभारत में ऑक्सीजन आपूर्ति श्रृंखला बढ़ाने पर काम कर रहा है बाइडन प्रशासन

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: