Crime NewsGiridihJharkhand

जेल गये गिरिडीह के जमीन कारोबारी लोहा सिंह और बेटे की मुश्किलें बढ़ीं, तीन भुक्तभोगियों ने डीसी को आवेदन सौंप मांगा इंसाफ

Giridih : धारा 107 के उल्लंघन के आरोप में पचंबा थाना पुलिस द्वारा जेल भेजे गये गिरिडीह के भू-माफिया सुरेश साव उर्फ लोहा सिंह और उनके बेटे चंदन गुप्ता की मुश्किलें खत्म होती नहीं दिख रही हैं. एक तरफ लोहा सिंह जहां अब भी इस मामले में जेल में बंद है, वहीं दूसरी तरफ शुक्रवार को लोहा सिंह व उनके बेटे चंदन गुप्ता पर ठगी के आरोप में कार्रवाई की मांग को लेकर तीन भुक्तभोगियों ने डीसी और एसपी समेत कई अधिकारियों को आवेदन सौंपा. प्रशासनिक सूत्रों की मानें तो इन आवेदनों के आधार पर उच्च अधिकारियों को जांच का आदेश भी जारी किये जाने की बात कही जा रही है.

पचंबा के वरुण बगेड़िया, कृष्णा पांडेय और वेणुगोपाल बगेड़िया ने इधर डीसी और एसपी समेत कई अधिकारियों को आवेदन देकर अलग-अलग आरोप लगाया है. अधिकारियों को दिये आवेदन में वेणुगोपाल बगेड़िया ने कहा है कि पचंबा स्थित एक प्लाॅट की ब्रिकी को लेकर लोहा सिंह और उनके बेटे चंदन गुप्ता ने पांच साल पहले विक्रय एकरारनामा तैयार किया था.  इसके लिए दोनों बाप-बेटे के कहने पर ही 75 लाख 60 हजार में प्लाॅट का सौदा तय हुआ था.  एकरारनामा के वक्त 20 लाख रुपए भी दिए गए थे. लेकिन पांच साल बीतने के बाद भी लोहा सिंह और उनके बेटे ने न तो प्लाॅट की रजिस्ट्री की और न ही 20 लाख लौटाये. कई बार बार पैसे की मांग करने पर अब सिर्फ धमकी दी जाती है.

दूसरा आवेदन पचंबा के ही वरुण बगेड़िया ने देते हुए दोनों भू-माफिया पिता पुत्र पर आरोप लगाते हुए कहा कि तीन साल पहले साल 2019 में पचंबा के जरीडीह मौजा स्थित प्लाॅट खाता नंबर 187- प्लाॅट नंबर 1307 के ब्रिकी को लेकर पिता-पुत्र ने 90 लाख में सौदा तय किया था. इसके लिए 11 लाख 51 हजार का टोकन का भी भुगतान किया गया. लेकिन तीन साल बीतने के बाद भी अब तक न तो पैसे लौटाये गये न ही जमीन बेची गयी.  तीसरा आवेदन देने वाले कृष्णा पांडेय ने दोनों पिता-पुत्र पर आरोप लगाते हुए कहा कि लोहा सिंह और उसके बेटे चंदन गुप्ता ने मजबूरी का हवाला देते हुए साल 2020 में कहा उनकी एक जमीन है, जिसे वे बेचना चाहते हैं. इस प्लाॅट के लिए कृष्णा पांडेय ने पिता-पुत्र को लाखों रुपये दिये थे. एडंवास पैसे देने के बाद भी न तो जमीन की रजिस्ट्री की गयी और न ही पैसे लौटाये जा रहे हैं.  अब पैसे मांगने पर  चंदन गुप्ता धमकी दे रहा है.

ram janam hospital
Catalyst IAS

इसे भी पढ़ें – The Legend of Birsa Munda : आखिर रांची से बिरसा गौरव यात्रा का शुभारंभ क्यों करना चाहते हैं तुहिन सिन्हा

The Royal’s
Pitambara
Pushpanjali
Sanjeevani

Related Articles

Back to top button