न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

धनबाद के उपायुक्त ने जनता से सीधे सुनीं उनकी शिकायतें, दूर करने का दिया निर्देश

एक घंटे में उपायुक्त ने की 40 लोगों से बात

248

Dhanbad: धनबाद के उपायुक्त ए डोड्डे ने आम लोगों की समस्याओं से रू-ब-रू होने के लिए सीधा बात कार्यक्रम की शुरुआत की. शनिवार को लोगों ने फोन से उपायुक्त से सीधी बात कर समस्याएं रखीं.

डीगवाडीह से एक शिकायतकर्ता ने अवैध ईंट भट्ठा के संचालन की शिकायत की. इस पर उपायुक्त ने संबंधित थाना से कार्रवाई करने का निर्देश दिया.

देखें वीडियो-

इसे भी पढ़ें – इविक्शन ऑर्डर निकालने के तीन माह के बाद भी सीसीएल की जमीन से नहीं हटाया जा सका अवैध कब्जा

कई तरह की शिकायतें

बाघमारा प्रखंड से डीप बोरिंग व प्रधानमंत्री आवास योजना का लाभ नहीं मिलने की शिकायत मिली. विभिन्न जगहों से लोगों ने अपनी-अपनी समस्याओं से उपायुक्त को अवगत कराया. समस्या सुन उपायुक्त ने त्वरित कार्रवाई एवम् जांच का निर्देश दिया.

कार्यक्रम के निर्धारित समय से पूर्व और समय के पश्चात भी लोग उपायुक्त से बात करने के लिए मोबाइल नंबर 9470554487 पर फोन करते रहे.

इसे भी पढ़ें – लातेहारः बिना आंगनबाड़ी निर्माण के ही निकाल लिये 3 लाख 57 हजार रुपये

अपनी बात कार्यक्रम में उपायुक्त ने लगभग 40 लोगों से बात की और उनकी समस्याएं सुनीं. उन्होंने कई समस्याओं के निष्पादन के लिए संबंधित अधिकारियों को त्वरित दिशा-निर्देश जारी किया.

उपायुक्त से सीधी बात करने के लिए जनता में काफी उत्सुकता थी. लोगों ने उपायुक्त को पेयजल, अतिक्रमण, राशन कार्ड, रजिस्टर टू में ऑनलाइन नाम चढ़ाने, सरकारी जमीन पर अवैध कब्जा, शौचालय इस्तेमाल नहीं करने देने, भूमि अधिग्रहण का मुआवजा नहीं मिलने, प्राथमिक स्वास्थ्य केंद्र में सही उपचार नहीं मिलने, पेंशन, आवासीय प्रमाण पत्र सहित विभिन्न तरह की समस्याओं से उपायुक्त को अवगत कराया.

इसे भी पढ़ें- केरल पहुंचा मॉनसून, मौसम विभाग ने इस साल 96 फीसदी बारिश की संभावना जताई

हर हफ्ते होगा आयोजन

कार्यक्रम के समापन के बाद उपायुक्त ने कहा कि अब प्रत्येक सप्ताह अपनी बात कार्यक्रम का आयोजन किया जायेगा. इसमें अलग-अलग विभाग के पदाधिकारी सीधे जनता से संवाद करेंगे. उन्होंने यह भी कहा कि आज जितने भी लोगों ने अपनी समस्याएं बतायी हैं, उन्हें संबंधित अधिकारियों के पास निष्पादन के लिए भेजा दिया गया है.

उपयुक्त ने कहा कि अब प्रत्येक शनिवार को एक-एक विभाग के पदाधिकारी जनता से सीधा संवाद करेंगे. अधिकारी जब जनता की समस्याओं से स्वयं रू-ब-रू होंगे तो उसका निराकरण भी त्वरित कर सकेंगे.

इसे भी पढ़ें – वन भूमि को अतिक्रमण मुक्त कराने गये कर्मियों पर ग्रामीणों ने किया हमला, आधा दर्जन घायल

हमें सपोर्ट करें, ताकि हम करते रहें स्वतंत्र और जनपक्षधर पत्रकारिता...

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

You might also like
क्लर्क नियुक्ति के लिए फॉर्म की फीस 1000 रुपये, कितना जायज ? हमें लिखें..
झारखंड में नौकरी देने वाली हर प्रतियोगिता परीक्षा विवादों में घिरी होती है.
अब JSSC की ओर से क्लर्क की नियुक्ति के लिये विज्ञापन निकाला है.
जिसके फॉर्म की फीस 1000 रुपये है. यह फीस UPSC के जरिये IAS बनने वाली परीक्षा से
10 गुणा ज्यादा है. झारखंड में साहेब बनानेवाली JPSC  परीक्षा की फीस से 400 रुपये अधिक. 
क्या आपको लगता है कि JSSC  द्वारा तय फीस की रकम जायज है.
इस बारे में आप क्या सोंचते हैं. हमें लिखें या वीडियो मैसेज वाट्सएप करें.
हम उसे newswing.com पर  प्रकाशित करेंगे. ताकि आपकी बात सरकार तक पहुंचे. 
अपने विचार लिखने व वीडियो भेजने के लिये यहां क्लिक करें.

you're currently offline

%d bloggers like this: