JharkhandLead NewsMain SliderNEWSRanchi

फरवरी से शुरू होगी किसानों की कर्ज माफी की प्रक्रिया, गणतंत्र दिवस पर ऑनलाइन जारी होगी कर्जधारियों की सूची

किसानों को jkrmy.jharkhand.gov.in  पर खुद करना होगा सत्यापन

Anuj Tiwary

Ranchi : राज्य के कर्जधारी किसानों को कर्ज माफी के लिए अब ऑनलाइन आवेदन करना होगा और फरवरी से नौ लाख किसानों की कर्ज माफी की प्रक्रिया शुरू हो जाएगी. इसके लिए उन्हें पोर्टल jkrmy.jharkhand.gov.in  में जाकर अपने कर्ज माफी के लिए सारी जानकारी देनी होगी. अभी तक यह ऑफलाइन कर्ज माफी की बात हो रही थी.

सरकार गणतंत्र दिवस को सारे कर्जधारी किसानों की सूची ऑनलाइन जारी करने जा रही है. जहां किसान अपने लोन एकाउंट के बारे में सारी जानकारी हासिल कर सकेगे और उनके सत्यापन के बाद ही सरकार की ओर से उन्हें राहत देने का काम किया जाएगा. कर्ज माफी के नोडल पदाधिकारी निशा उरांव बताती हैं कि किसानों का कर्जमाफी का काम शुरू हो चुका है. उनके सारे डिटेल आने के बाद किसानों के सत्यापन किया जाएगा.

मालूम हो कि पहले चरण में 50 हजार तक का कर्ज माफ होगा, उसके लिए सरकार ने पहले ही बजट में दो हजार करोड़ रुपए रखा है. कृषि विभाग की ओर से इस पूरे कार्य को लेकर सारी तैयारी कर ली गई है और उम्मीद जतायी जा रही है कि किसानों के द्वारा कर्जमाफी के आवेदन पर अपनी सहमति देने के बाद कर्ज माफी का काम अगले माह से शुरू हो जाएगा. मालूम हो कि 12.93 लाख किसानों ने कर्ज लिया था, जिसमें से 9.07 खाते ही मानक पाए गए हैं. करीब चार लाख खाते एनपीए हो चुके हैं जिन्हें फिलहाल कर्ज माफी का लाभ नहीं मिल सकेगा.

 

ऑनलाइन जारी होगी केसीसी की संपूर्ण जानकारी

एनआईसी और जैप आईटी सारे केसीसी एकाउंट की जानकारी पोर्टल में अपलोड करेगा. जो सभी पब्लिक व्यू के लिए जारी होगा. इसके माध्यम से किसान अपने एकाउंट और लोन की जानकारी जान सकेंगे. इन किसानों की सुविधा के लिए प्रज्ञा केंद्र और बैंक कर्मियों को काम पर लगाया जाएगा, जिनकी मदद से ये कर्मी कर्जदाताओं के पास  पहुंचेंगे और उन्हें यदि तकनीकी समस्या आ रही है तो उनकी मदद की जाएगी.

जानें, कैसी होगी कर्ज माफी की पूरी प्रक्रिया

कर्जधारी किसानों के डिटेल अपलोड होने के बाद किसानों को संबंधित जिले के उपायुक्त कॉल करेंगे उसके बाद उन्हें बैंक या प्रज्ञा केंद्र के प्रतिनिधि संपर्क कर उनकी सारी जानकारी ऑनलाइन अपलोड करेंगे. लाभुक का राशन कार्ड नंबर लिया जाएगा, फिर अंगूठे का निशान लिया जाएगा. इस प्रक्रिया के पूरे होने के बाद पीडीएस के माध्यम से उसकी पूरी दी गई जानकारी का मिलान किया जाएगा. यह सही पाए जाने के बाद लाभुक को एसएमएस आएगा और फिर लाभुक उक्त खाते में एक रुपए का टोकन मनी जमा कर एक्नॉलेजमेंट लेंगे. इस प्रक्रिया के पूरे होने के बाद विभाग की ओर से उस खाते के लिए फंड जारी करने का निर्देश दिया जाएगा.

Advertisement

Related Articles

Back to top button
%d bloggers like this: