NEWSWING
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

मोदी सरकार का फ्लोर टेस्टः बीजेडी का सदन से वॉकआउट, वोटिंग में शामिल नहीं होगी शिवसेना

टीडीपी सांसद जयदेव गल्ला ने की बहस की शुरुआत

381

New Delhi: संसद के मॉनसून सत्र के तीसरे दिन लोकसभा में मोदी सरकार के खिलाफ पहले अविश्वास प्रस्ताव पर बहस हो रही है. टीडीपी सांसद जयदेव गल्ला ने बहस की शुरुआत की है. टीडीपी ने केंद्र सरकार के खिलाफ अश्विवास प्रस्ताव लाने के चार कारण बताए हैं. इधर संसद में बहस के लिए विपक्ष को दिए गये पांच घंटे के समय को नाकाफी बताते हुए समय बढ़ाने की मांग की गई. जिसके नहीं माने जाने पर बीजेडी ने सदन से वॉकआउट कर दिया.

इसे भी पढ़ेंःमोदी सरकार के खिलाफ पहला अविश्वास प्रस्ताव, शिवसेना पर होगी देश की नजर

बता दें कि बुधवार को टीडीपी सांसद की ओर से लाए गए अविश्वास प्रस्ताव को लोकसभा स्पीकर सुमित्रा महाजन ने मंजूर किया था, जिसके बाद उस पर चर्चा के लिए शुक्रवार का दिन तय हुआ था. इधर लोकसभा की कार्यवाही शुरु होने के साथ ही बीजेपी सांसदों ने जय श्री राम के नारे लगाए. वही सुमित्रा महाजन ने लोकसभा में बताया कि अब हम अविश्वास प्रस्ताव लेंगे और 6 बजे तक प्रस्ताव पर चर्चा खत्म करनी है. सदन सहमत हुआ तो लंच भी रद्द किया जा सकता है. उन्होंने सांसदों ने तय वक्त में अपनी बात कहने की अपील की.

टीडीपी सांसद ने की बहस की शुरुआत

टीडीपी सांसद जयदेव गल्ला ने अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा की शुरुआत की. उन्होंने प्रस्ताव पर पार्टी का समर्थन करने वाले दलों का आभार जताया. गल्ला ने कहा कि पहली बार सांसद बनने के साथ अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा शुरु करना मेरे लिए गौरव की बात है. जयदेव गल्ला ने कहा कि आंध्र प्रदेश पर भारी आर्थिक बोझ है, केंद्र सरकार ने आंध्र के साथ किया वादा नहीं निभाया है. लोकसभा में उन्होंने कहा कि 4 कारणों से यह अविश्वास प्रस्ताव लाया गया है. इसमें विश्वास की कमी, भेदभाव, प्राथमिकता की कमी की वजह से मोदी सरकार के खिलाफ यह प्रस्ताव लाया गया है. आंध्र की 5 करोड़ जनता के साथ धोखा किया गया.

बीजेडी का वॉकआउट

बता दें कि स्पीकर ने विपक्ष की सभी पार्टियों को अपनी बात रखने के लिए करीब 5 घंटे का वक्त दिया है. जिसपर कांग्रेस समेत अन्य दलों को बोलने के लिए दिए गए तय वक्त पर आपत्ति जताई. उन्होंने कहा कि 5 घंटे में सभी विपक्षी दलों के सांसदों के बोल पाना संभन नहीं है. वही खड़गे ने 5 दिन तक अविश्वास प्रस्ताव पर चर्चा की मांग की. जिसपर संसदीय कार्यमंत्री अनंत कुमार ने कहा कि वनडे के जमाने में 5 दिन का टेस्ट संभव नहीं है. बहस की समयसीमा नहीं बढ़ाये जाने से नाराज बीजेडी के सांसदों ने लोकसभा से वॉकआउट कर दिया.

इसे भी पढ़ेंःअविश्वास प्रस्ताव से पहले सेंसेक्स में तेजी, चढ़ा 150 अंक, रुपया कमजोर

वोटिंग में शामिल नहीं होगी शिवसेना

बीजेपी को शिवसेना ने झटका दिया है. शुक्रवार को संसद में अविश्वास प्रस्ताव पर हो रही बहस में शिवसेना शामिल हो रही है. लेकिन बहस के बाद शाम 6 बजे होने वाली वोटिंग से वो दूर रहेगी. बता दें कि शुक्रवार के सामना में भी शिवसेना ने बीजेपी का साथ नहीं देने के संकेत दिये थे.

इसे भी पढ़ेंःजेबीवीएनएल फाइनांस कंट्रोलर उमेश कुमार को डीमोट करने का आदेश

वही सूत्रों की मानें तो मोदी सरकार के खिलाफ फ्लोर टेस्ट में वोटिंग से पहले ही विपक्ष वॉकआउट कर सकता है. हालांकि आंकड़ों के हिसाब से मोदी सरकार के पास पूरी संख्या है. और कार्यवाही शुरु होने से पहले संसद पहुंकर बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह समेत सांसदों ने विजयी निशान दिखाकर अविश्वास प्रस्ताव को गिराने के संकेत दिए हैं.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

nilaai_add

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

Comments are closed.