ChaibasaCrime NewsJamshedpurJharkhandNEWS

चाईबासा के जानेमाने डॉक्टर की बहू ने दहेज में 25 लाख मांगने का लगाया आरोप, जमशेदपुर में दर्ज करायी प्राथमिकी

Jamshedpur :  चाईबासा के जानेमाने चिकित्सक डॉ अरुण कुमार की बहू वेदिका कश्यप ने  25 लाख रुपये दहेज मांगने का आरोप लगाते हुए एक प्राथमिकी दर्ज करायी है. जमशेदपुर के बिष्टुपुर थाना में दर्ज करायी गयी प्राथमिकी में डॉ अरुण के बेटे डॉक्टर शांतनु कुमार,  उऩकी पत्नी आशा देवी व बेटी स्मृति कुमारी को आरोपी बनाया गया है.

प्राथमिकी में वेदिका ने बताया है कि उसकी शादी 10 दिसंबर 2017 को होटल वेब इंटरनेशनल में डॉक्टर अरुण कुमार के पुत्र डॉक्टर शांतनु कुमार से हुई थी. शादी के पहले बताया गया था कि डॉ शांतनु दिल्ली के राममनोहर लोहिया अस्पताल में रेसीडेंट डॉक्टर है. उस समय वेदिका बेंगलुरू में बाइजूस क्लासेस के एडमिनिस्ट्रेटिव आफिस में एचआर थी. ससुरालवालों ने शादी के पहले ही उसकी नौकरी छुड़वा दी थी. शादी के बाद उसे पति से अलग चाईबासा में रखा गया. चाईबासा में उसे शारीरिक और मानसिक रूप से प्रताड़ित किया जाता था और उसे पति से भी बात तक करने नहीं दिया जाता था. पति के कारण वह विरोध नहीं कर पाती थी. लेकिन शादी के डेढ़ साल बीतने के बाद जब वह पति के पास चंडीगढ़ गयी, तो पति का रवैया बिल्कुल बदला हुआ था. पति और सास उससे 25 लाख रुपये की मांग करने लगे. कहा कि 25 लाख लेकर आओ तो बहू का दर्जा मिलेगा, नहीं तो तलाक दे देंगे. प्राथमिकी में वेदिका ने कहा है कि उसके दो साल के बेटे को भी ससुरालवालों ने छीन लिया और उसे घर से निकाल दिया. वह दिल्ली एयरपोर्ट से किसी तरह 4 अगस्त को रांची होते हुए जमशेदपुर पहुंची और माता-पिता को घटना के बारे में बताया जानकारी दी. इसके बाद बिष्टुपुर थाना में दहेज प्रताड़ना का केस दर्ज किया गया.

इसे भी पढ़ें – इनके दिल में है तिरंगा – स्वतंत्रता सेनानी स्व प्रभाष चंद्र ठाकुर की पत्नी आज भी एसबेस्टस के मकान में फहराती हैं झंडा

Sanjeevani

Related Articles

Back to top button