न्यूज़ विंग
कल का इंतज़ार क्यों, आज की खबर अभी पढ़ें

देश की धड़कनों में शामिल है दूरदर्शन-अमित खरे

चुनौतियों के लिए तैयार है दूरदर्शन, सरकार से मिलेगी हर संभव मदद

156

NewDelhi: सूचना एवं प्रसारण मंत्रालय के सचिव अमित खरे ने कहा है कि दूरदर्शन देश की एकता में महत्त्वपूर्ण योगदान है. दूरदर्शन ने कश्मीर से लेकर कन्याकुमारी और उत्तर पूर्व के राज्यों तक की संस्कृति को घर-घर पहुंचाने में महत्वपूर्ण भूमिका निभाई है. इस दिशा में दूरदर्शन आज भी मजबूती के साथ काम कर रहा है. अमित खरे दूरदर्शन के 59वें स्थापना दिवस पर आयोजित कार्यक्रम को संबोधित कर रहे थे.

इसे भी पढ़ेंःपुलिस महकमे के एक खास वर्ग का नौकरशाही में वर्चस्व, राष्ट्रपति से शिकायत

कला संस्कृति और आम आदमी की आवाज है दूरदर्शन

देश की धड़कनों में शामिल है दूरदर्शन-अमित खरे

उन्होंने बताया कि दूरदर्शन का लोकप्रिय कार्यक्रम महाभारत के प्रसारण वक्त लातेहर के एसडीओ थे. कार्यक्रम के वक्त सड़कें शांत हो जाती थी. बिजली विभाग को खास आदेश होता था कि महाभारत प्रसारण के समय निर्बाध आपूर्ति हो. उन्होंने कहा कि दर्शकों का जुड़ाव दूरदर्शन से बना रहे ऐसी कोशिश लगातार होनी चाहिए. यह देश की धडकनों में शामिल है. कला संस्कृति और आम आदमी की आवाज है.

इसे भी पढ़ें: पत्रकार से जाति विशेष बातचीत के दौरान IPS इंद्रजीत महथा ने अपने जूनियर-सीनियर अफसरों को भला-बुरा कहा

palamu_12

चुनौतियों का करेंगे सामना

वर्तमान में चैनल के सामने कई चुनौतियां हैं. दूरदर्शन को मजबूत और चुनौतियों का सामना करने लायक बनाने के लिए सरकार गंभीर है. इसके लिए हर संभव मदद दी जाएगी. दर्शकों को बेहतर कार्यक्रम देने के लिए दूरदर्शन परिवार के लोग लगातार काम कर रहे हैं. ऐसे तमाम लोगों को बधाई और शुभकामनाएं. हम अगली पीढी को भी बेहतर दूरदर्शन सौंपेंगे.

इसे भी पढ़ें: जिन सड़कों का शिलान्‍यास राष्‍ट्रपति ने किया, उससे नगर विकास विभाग ने झाड़ा पल्‍ला

दूरदर्शन के स्थापना दिवस के मौके पर प्रसार भारती के अध्यक्ष ए सूर्य प्रकाश ने राष्ट्र निर्माण में दूरदर्शन की भूमिका को याद किया. कार्यक्रम में दूरदर्शन की महानिदेशक सुप्रिया साहू समेत बड़ी संख्या में लोग मौजूद थे. गौरतलब है कि दूरदर्शन का देश में 67 केंद्र और 32 चैनल हैं. इसमें दो प्रसारण केंद्र झारखंड में है.

न्यूज विंग एंड्रॉएड ऐप डाउनलोड करने के लिए आप यहां क्लिक कर सकते हैं. आप हमें फ़ेसबुक और ट्विटर पेज लाइक कर फॉलो भी कर सकते हैं.

Get real time updates directly on you device, subscribe now.

%d bloggers like this: