National

#NirbhayaCase: दोषियों को तीन मार्च को भी फांसी नहीं, पटियाला हाउस कोर्ट ने अगले आदेश तक रोक लगाई

NewDelhi : निर्भया के दोषियों को कल यानी 3 मार्च को  फांसी नहीं होगी. खबरों के अनुसार इसकी वजह निर्भया गैंगरेप मर्डर केस के चारों दोषियों में से एक पवन की दया याचिका राष्ट्रपति के सामने लंबित होना है. इसे लेकर पटियाला हाउस कोर्ट ने फांसी पर अगले आदेश तक रोक लगा दी . पूर्व आदेश के अनुसार चारों को कल  सुबह 6 बजे फांसी होनी थी.  अतिरिक्त सत्र न्यायाधीश धर्मेंद्र राणा ने कहा कि ऐसे में जब दोषी पवन कुमार गुप्ता की दया याचिका लंबित है, फांसी की सजा की तामील नहीं की जा सकती.

राष्ट्रपति के समक्ष सोमवार को दया याचिका दायर

अदालत का यह आदेश पवन की उस अर्जी पर था, जिसमें उसने फांसी पर रोक लगाने का अनुरोध किया था,  क्योंकि उसने राष्ट्रपति के समक्ष सोमवार को एक दया याचिका दायर की है.  कोर्ट ने यह भी कहा कि मौत की सजा का सामना कर रहे दोषी को सभी कानूनी उपायों का इस्तेमाल करने का उचित मौका नहीं मिलने को लेकर अदालतों के खिलाफ शिकायत नहीं करनी चाहिए.

इसे भी पढ़ें : #Lok_Sabha : गृह मंत्री अमित शाह के इस्तीफे की मांग, कांग्रेस और भाजपा सदस्यों में धक्का-मुक्की की खबर

पवन की क्यूरेटिव याचिका सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की

जान लें कि आज ही पवन की क्यूरेटिव याचिका सुप्रीम कोर्ट ने खारिज की है, तो साथ ही पटियाला हाउस कोर्ट ने डेथ वॉरंट पर रोक लगाने की अक्षय और पवन की याचिका खारिज कर दी. दो झटकों के बाद निर्भया के वकील एपी सिंह ने अब आखिरी दांव चला.  दोपहर में पवन की ओर से दया याचिका राष्ट्रपति के पास दी और इसके तुरंत बाद डेथ वॉरंट पर रोक लगाने के लिए पटियाला हाउस कोर्ट में अर्जी दायर की.

इसे भी पढ़ें : #Delhi_Violence : संसद भवन में दिल्ली हिंसा के खिलाफ कांग्रेस का प्रदर्शन, गृह मंत्री इस्तीफा दो.. नफरत की भाषा बंद करो.. के नारे लगाये

  आग से खेल रहे हैं आप

जज ने क्यूरेटिव और दया अर्जियां दायर करने में इतनी देरी करने के लिए दोषी के वकील की खिंचाई की. पवन के वकील एपी सिंह ने कहा कि उन्होंने एक दया अर्जी दायर की है और फांसी  पर रोक लगनी चाहिए.  अदालत ने उसके बाद उनसे कहा कि वह अपने मामले की जिरह के लिए दोपहर लंच के बाद आयें.  लंच के बाद की सुनवाई के दौरान अदालत ने सिंह की यह कहते हुए खिंचाई की, आप आग से खेल रहे हैं, आपको सतर्क रहना चाहिए.  किसी के द्वारा एक गलत कदम, और आपको परिणाम पता है.

इसे भी पढ़ें :  ममता ने #Banglar_Gorbo_Mamta.. अभियान शुरू किया, दिल्ली हिंसा को बताया नरसंहार, कोलकाता में गोली मारो…जैसे नारे बर्दाश्त नहीं  

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Related Articles

Back to top button